comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

IPL 13 auction: पैट कमिंस IPL इतिहास के दूसरे सबसे महंगे खिलाड़ी, KKR ने 15.5 करोड़ में खरीदा


हाईलाइट

  • IPL के 13वें सीजन की निलामी आज पहली बार कोलकाता में होगी
  • कुल 338 खिलाड़ियों पर फ्रेंचाइजियां दांव खेलेंगी, जिसमें से 186 भारतीय खिलाड़ी हैं, जबकि 143 विदेशी

डिजिटल डेस्क, कोलकाता। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13वें सीजन की नीलामी आज पहली बार कोलकाता में हो रही है। जिसमें कुल 338 खिलाड़ियों पर फ्रेंचाइजियां दांव खेल रही हैं। इन 338 खिलाड़ियों को पंजीकृत कराए गए 997 खिलाड़ियों में चुना गया है, जिसमें से 186 भारतीय खिलाड़ी हैं, जबकि 143 विदेशी हैं। तीन खिलाड़ी एसोसिएट सदस्यों के हैं। अगर फ्रेंचाइजियों के पास मौजूद रकम की बात करें तो किंग्स इलेवन पंजाब, कोलकाता नाइट राइडर्स और दिल्ली कैपिटल्स मोटी रकम लेकर नीलामी में जा रही हैं।

Live Updates:-

4:21 PM- ऑलराउंडर क्रिस मॉरिस को रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने 10 करोड़ में खरीदा। 

4:16 PM- ऑलराउंडर सैम कुर्रन को किंग्स इलेवन पंजाब ने 5.5 करोड़ में खरीदा। 

4:13 PM- ऑलराउंडर पैट कमिंस को कोलकाता नाइट राइडर्स ने 15.5 करोड़ में खरीदा। 

4:01 PM- 1 करोड़ बेस प्राइस वाले यूसुफ पठान और 75 लाख बेस प्राइस वाले कॉलिन डी ग्रैंडहोम पहले राउंड में अनसोल्ड रहे। 

4:01 PM- क्रिस वोक्स को दिल्ली कैपिटल्स ने 1.5 करोड़ में खरीदा। 

4:00 PM- ऑलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल को किंग्स इलेवन पंजाब ने 10.75 करोड़ में खरीदा। 

3:56 PM- ऑरोन फिंच को रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने 4.4 करोड़ में खरीदा। 

3:50 PM- 50 लाख बेस प्राइस वाले चेतेश्वर पुजारा और हनुमा विहारी अनसोल्ड रहे। 

3:42 PM- जेसन रॉय को दिल्ली कैपिटल्स ने 1.5 करोड़ में खरीदा। 

3:40 PM- रॉबिन उथप्पा को राजस्थान रॉयल्स ने 3 करोड़ में खरीदा। 

3:39 PM- इयोन मोर्गन को कोलकाता नाइट राइडर्स ने 5.25 करोड़ में खरीदा। 

3:38 PM- क्रिस लिन को मुंबई इंडियंस ने बेस प्राइस 2 करोड़ में खरीदा। 

पंजाब के पास 42.70 करोड़ रुपये

पंजाब के पास 42.70 करोड़ रुपये हैं जिनको लेकर वो नीलामी में जाएगी। इन पैसों से टीम अपनी खाली नौ जगहों को भरने की कोशिश करेगी। वहीं दो बार की विजेता कोलकाता नाइट राइडर्स 35.65 करोड़ की रकम के साथ नीलामी में हिस्सा लेगी और उसका ध्यान 11 खिलाड़ियों को भरने पर होगा।

दिल्ली के पास 11 खिलाड़ियों की जगह

दिल्ली कैपिटल्स के पास 11 खिलाड़ियों की जगह है जिन्हें खरीदने के लिए वह 27.85 करोड़ रुपये लेकर जा रही है। विराट कोहली की कप्तानी वाली रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर 12 खिलाड़ियों की खाली जगह लेकर नीलामी में जा रही जिन्हें खरीदने के लिए उसके पास 27.90 करोड़ रुपये हैं।

मुंबई सात खिलाड़ियों के लिए नीलामी में उतरेगी

मौजूदा विजेता मुंबई इंडियंस सात खिलाड़ियों के लिए नीलामी में उतरेगी। उसके बटुए में 13.05 करोड़ रुपये हैं। इसी तरह चेन्नई सुपर किंग्स की नजरें अपनी टीम में पांच खिलाड़ियों की पूर्ती करनी पर है जिसके लिए उसके पास 14.60 करोड़ रुपये हैं।

राजस्थान ने इस साल कई बड़े खिलाड़ियों को रिलीज किया

राजस्थान ने इस साल कई बड़े खिलाड़ियों को रिलीज किया है। यह टीम 11 खिलाड़ियों की पूर्ति के लिए 28.90 करोड़ रुपये लेकर उतरेगी। वहीं सनराइजर्स हैदराबाद के पास 17 करोड़ रुपये हैं जिनसे वो सात खिलाड़ियों को खरीदना चाहेगी।

सात विदेशी खिलाड़ी की बेस प्राइज दो करोड़

सात विदेशी खिलाड़ी ऐसे हैं, जिन्होंने अपनी बेस प्राइज दो करोड़ रुपये रखी है। इनमें पैट कमिंस, जोश हेजलवुड, क्रिस लिन, मिशेल मार्श, ग्लैन मैक्सवेल, डेल स्टेन और एंजेलो मैथ्यूज जैसे खिलाड़ियों के नाम शामिल हैं।

कोलकाता की टीम से रिलीज कर दिए गए रोबिन उथप्पा

इसी साल कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम से रिलीज कर दिए गए रोबिन उथप्पा इकलौते ऐसे भारतीय हैं, जिन्होंने अपनी बेस प्राइस 1.5 करोड़ रुपये रखी है। इतनी ही बेस प्राइस रखने वाले विदेशी खिलाड़ियों में इयोन मोर्गन, जेसन रॉय, क्रिस वोक्स, एडम जाम्पा, शॉन मार्श, डेविड विले, केन रिचर्डसन और काइल एबोट हैं।

20 खिलाड़ीयों की बेस प्राइस एक करोड़

पीयूष चावला, युसूफ पठान और जयदेव उनादकट को भी उनकी फ्रेंचाइजियों ने रिलीज कर दिया है। अगामी नीलामी में इन सभी ने अपनी बेस प्राइस एक करोड़ रुपये रखी है। विदेशी मूल के अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ियों में से नौ ऐसे खिलाड़ी हैं जो 1.5 करोड़ की बेस प्राइस के साथ नीलामी में आएंगे, जबकि 20 ने अपनी बेस प्राइस एक करोड़ रुपये रखी है। 16 खिलाड़ियों ने 75 लाख और 69 खिलाड़ियों ने 50 लाख रुपये बेस प्राइस रखी है।

क्रिस लिन की बेस प्राइस दो करोड़

कोलकाता से खेलते हुए रनों की बारिश करने वाले आस्ट्रेलियाई बल्लेबाज क्रिस लिन ने भाी अपनी बेस प्राइज दो करोड़ रुपये रखी है। लिन पर बाकी फ्रेंचाइजियां की नजरें होंगी, इसी कारण इस बात की पूरी संभावना है कि वह मोटी कमाई कर लौटें। भारत के खिलाफ चेन्नई में खेले गए पहले वनडे में बेहतरीन शतकीय पारी खेलने वाले विंडीज के शिमरन हेटमायेर भी अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं।

कमेंट करें
CYabv
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।