comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

Kapil Dev: हार्ट अटैक के बाद कपिल की एंजियोप्लास्टी सफल, ट्वीट कर बताया गोल्फ खेलने को उत्सुक

Kapil Dev: हार्ट अटैक के बाद कपिल की एंजियोप्लास्टी सफल, ट्वीट कर बताया गोल्फ खेलने को उत्सुक

हाईलाइट

  • कपिल की हालत स्थिर, कुछ दिन में अस्पताल से छुट्टी मिल जाएगी
  • छुट्टी देने से पहले मरीज को 48 से 72 घंटे तक अस्पताल में रखा जाता है

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारत को पहला विश्व कप दिलाने वाले कप्तान कपिल देव की एंजियोप्लास्टी सफल रही है और यह महान खिलाड़ी स्वास्थ है। कपिल अब गोल्फ कोर्स पर जाने के बारे में सोच रहे हैं। कपिल 1983 विश्व कप जीतने वाली भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान थे। इस टीम के खिलाड़ियों का एक व्हॉट्सएप ग्रुप है। इस ग्रुप में कपिल की टीम के पूर्व साथियों ने उन्हें जल्दी स्वास्थ होने के लिए शुभकामनाएं दीं।

कपिल ने इन सभी दुआओं के जवाब में लिखा कि मैं अच्छा हूं और अब अच्छा कर रहा हूं। तेजी से स्वास्थ होने के रास्ते पर हूं। गोल्फ खेलने का इंतजार नहीं कर पा रहा। आप लोग मेरा परिवार हो। धन्यवाद। विश्व कप विजेता टीम के एक सदस्य ने कहा कि बड़े दिल वाला इंसान, कपिल, जल्दी से ठीक हो रहे हैं। अपने चरित्र के मुताबिक, उन्होंने मुश्किल समय को बदल दिया। 


कपिल देव की शुक्रवार को यहां दक्षिणी दिल्ली के फोर्टिस एस्कॉर्ट्स अस्पताल में सफल आपातकालीन कोरोनरी एंजियोप्लास्टी हुई। अस्पताल ने शुक्रवार को इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि 61 साल के कपिल को गुरुवार रात दिल का दौरा पड़ने के बाद भर्ती कराया गया था। अस्पताल ने आगे बताया कि कपिल की हालत स्थिर है और अगले कुछ दिनों में उन्हें छुट्टी दे दी जाएगी।

कपिल की हालत स्थिर, कुछ दिन में अस्पताल से छुट्टी मिल जाएगी
फोर्टिस एस्कॉर्ट्स अस्पताल के कार्डियलॉजी विभाग के निदेशक डॉ. अतुल माथुर के अनुसार कपिल को देर रात 1 बजे भर्ती कराया गया था, जहां बाद में उनकी इमर्जेंसी कोरोनरी एंजियोप्लास्टी की गई। अस्पताल ने एक बयान में कहा कि पूर्व भारतीय क्रिकेट कप्तान कपिल देव को सीने में दर्द की शिकायत के बाद दिल्ली के ओखला में फोर्टिस अस्पताल में गुरुवार देर रात 1 बजे भर्ती कराया गया था। बाद में डॉ. अतुल माथुर की निगरानी में उनकी इमर्जेंसी एंजियोप्लास्टी की गई। बयान में आगे कहा गया है कि फिलहाल कपिल आईसीयू में हैं और डॉ. अतुल माथुर और उनकी टीम की निगरानी में हैं। कपिल की हालत स्थिर है और उन्हें कुछ दिनों में अस्पताल से छुट्टी दे दी जाएगी।

छुट्टी देने से पहले मरीज को 48 से 72 घंटे तक अस्पताल में रखा जाता है
अस्पताल के एक अन्य डॉक्टर ने आईएएनएस से कहा, उन्हें गुरुवार रात को अस्पताल लाया गया था। उन्हें सीने में दर्द की शिकायत थी। जांच के बाद रात में ही एंजियोप्लास्टी की गई। अब वह स्थिर हैं। आम तौर पर छुट्टी देने से पहले मरीज को 48 से 72 घंटे तक अस्पताल में रखा जाता है। डॉक्टर ने साथ ही कहा कि दिग्गज क्रिकेटर को लंबे समय से शुगर की समस्या थी। उन्होंने कहा कि मधुमेह के रोगी में रक्त वाहिकाओं में अधिक कैल्शियम जमा होता है। इसलिए, यह एक ऐसा मुद्दा है जो कि जियोप्लास्टी से गुजरने वाले रोगियों के लिए हो सकता है। लेकिन वह स्थिर है।

हॉर्ट में ब्लॉकेज के चलते हुए भर्ती
हॉर्ट में ब्लॉकेज के चलते कपिल देव को दिल्ली के फोर्टिस अस्पताल में भर्ती किया गया। अस्पताल से मिली जानकारी के अनुसार हार्ट में ब्लॉकेज के चलते फोर्टिस अस्पताल में कपिल देव की एंजियोप्लास्टि की गई। यह एक प्रोसीजर है जिसमें धमनियों के ब्लॉक को खोला जाता है और वहां स्टेंट लगाया जाता है।

1994 में लिया था क्रिकेट से सन्यास
किसी समय टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक विकेट लेने का रिकॉर्ड अपने नाम रखने वाले कपिल देव ने 1994 में टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। वह छह साल तक सर्वाधिक टेस्ट विकेट लेने वाले गेंदबाज बने हुए थे। उनके बाद इंग्लैंड के कॉर्टनी वाल्श ने उनका रिकॉर्ड तोड़ा था।

कपिल की कप्तानी में भारतीय टीम ने जीता था पहली बार विश्व कप
कपिल देव की कप्तानी में ही भारत ने 1983 में पहली बार विश्व कप जीता था। कपिल ने भारत के लिए 131 टेस्ट और 225 वनडे मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने क्रमश : 5248 और 3783 रन बनाए हैं। उन्होंने इसके अलावा 275 प्रथम श्रेणी मैच और 310 लिस्ट-ए मैच भी खेले हैं। कपिल ने 16 अक्टूबर 1978 को फैसलाबाद में पाकिस्तान के खिलाफ अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की थी। इसके बाद उन्होंने अक्टूबर 1978 को क्वेटा में पाकिस्तान के खिलाफ वनडे क्रिकेट में पदार्पण किया था। कपिल ने अपना आखिरी टेस्ट मार्च 1994 में हेमिल्टन में न्यूजीलैंड के खिलाफ जबकि अपना आखिरी वनडे अक्टूबर 1978 को फरीदाबाद में वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला था।

कमेंट करें
ugj2e
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।