comScore

Match-Fixing Case: सट्टेबाज संजीव को 20 साल बाद भारत लाने का रास्ता साफ, लंदन की अदालत ने दी मंजूरी

Match-Fixing Case: सट्टेबाज संजीव को 20 साल बाद भारत लाने का रास्ता साफ, लंदन की अदालत ने दी मंजूरी

हाईलाइट

  • बुकी संजीव चावला 2000 के मैच फिक्सिंग स्कैंडल में शामिल था
  • द. अफ्रीका के पूर्व कप्तान हैंसी क्रोनिए का भी आरोपी बनाया गया था
  • गृह सचिव के हस्ताक्षर के बाद संजीव को 28 दिन के अंदर प्रत्यर्पित किया जाएगा

डिजिटल डेस्क, लंदन। साल 2000 के मैच फिक्सिंग स्कैंडल में शामिल और वांटेड सट्टेबाज संजीव चावला को आखिरकार भारत लाने का रास्ता साफ हो गया है। लंदन की वेस्टमिनिस्टर कोर्ट ने गुरुवार को बुकी संजीव चावला के केस में फैसला सुनाते हुए प्रत्यर्पण को मंजूरी दे दी है। अदालत ने अपने फैसले में कहा कि हम अपील करने की अनुमति से इनकार करेंगे और हाई कोर्ट के पिछले फैसले को भी खोलने की अनुमति नहीं देंगे। सुनवाई के दौरान संजीव चावला कोर्ट में मौजूद था। गृह सचिव के हस्ताक्षर के बाद संजीव को 28 दिन के अंदर प्रत्यर्पित किया जाएगा।

गौरतलब है कि इस कुख्यात मैच फिक्सिंग स्कैंडल में दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान हैंसी क्रोनिए का नाम भी आया था, जिनकी बाद में एक प्लेन हादसे में मौत हो गई थी।

पिछले साल ब्रिटेन के गृह सचिव ने दिया था प्रत्यर्पण का आदेश
लंदन की वेस्टमिनिस्टर कोर्ट में चल रही संजीव के प्रत्यर्पण केस की सुनवाई में शामिल होने के लिए दिल्ली की टीम दो दिन पहले यानी मंगलवार रात वहां रवाना हुई थी। लंदन गई दिल्ली पुलिस की टीम में डीसीपी रैंक का एक अधिकारी और इंस्पेक्टर-रैंक का एक अधिकारी शामिल हैं, जो मामले में जांच अधिकारी भी हैं। यह टीम 20 जनवरी को भारत वापस आएगी। पिछले साल मार्च में ब्रिटेन के गृह सचिव ने संजीव के प्रत्यर्पण का आदेश दिया था, लेकिन वह इसके खिलाफ कोर्ट चला गया था।

संजीव और द. अफ्रीका के पूर्व कप्तान हैंसी क्रोनिए को बनाया था आरोपी
2000 के कुख्यात मैच फिक्सिंग स्कैंडल मामले में दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच टीम जांच कर रही है। भारतीय एजेंसियों के इनपुट पर साल 2016 में ब्रिटेन में संजीव चावला को गिरफ्तार किया गया था। प्रत्यर्पण पर फैसला आने के बाद 20 साल बाद इस केस के वांटेड आरोपी को भारत लाया जाएगा। मामले की जांच कर रही दिल्ली की क्राइम ब्रांच टीम ने 2013 में 70 पन्नों की एक चार्जशीट दाखिल भी की थी। रिपोर्ट में द. अफ्रीका के पूर्व कप्तान हैंसी क्रोनिए और संजीव चावला को आरोपी बनाया गया था।

हैंसी ने भारत के खिलाफ हारने का सौदा किया था
गौरतलब है ​कि मैच फिक्सिंग मामले में दिल्ली पुलिस ने मार्च 2000 में एफआईआर दर्ज की थी, जब उन्होंने सट्टेबाज संजीव और हैंसी के बीच बातचीत को इंटरसेप्ट किया था। बातचीत में हैंसी भारत के खिलाफ मैच हारने के बदले एक सौदा कर रहा था।

कमेंट करें
rADlF