दैनिक भास्कर हिंदी: कोरोनावायरस: IPL के साथ धोनी के करियर पर भी खतरा ! टीम इंडिया में कैसे होगी वापसी ?

March 19th, 2020

हाईलाइट

  • कोरोनावायरस की वजह से IPL का आयोजन मुश्किल में
  • IPL पर टिकी है धोनी की टीम इंडिया में वापसी

डिजिटल डेस्क, मुंबई। कोरोनावायरस के कारण दुनियाभर में कई खेलों को रद्द या स्थगित कर दिया गया है। वहीं इसका असर भारत की सबसे बड़ी क्रिकेट लीग इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) पर भी देखने को मिल रहा है। इस महामारी के चलते IPL को 15 अप्रैल तक स्थगित कर दिया है। पहले यह लीग 29 मार्च से शुरु होनी थी। स्थगित करने के बाद भी तमाम चर्चाओं के बीच फिलहाल IPL पर कोई रास्ता बनता नहीं दिख रहा है। अब ऐसी खबरें आ रही हैं कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) जुलाई से सितंबर के बीच यह टूर्नामेंट करा सकता है। ऐसे में भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के फैंस के मन में सवाल उठ रहा है। IPL होगा या नहीं और अगर नहीं होगा तो धोनी की टीम इंडिया में वापसी होगी या नहीं। 

दरअसल, धोनी ने टीम इंडिया के लिए आखिरी मैच न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में खेला था। इसके बाद उन्होंने कोई भी इंटरनेशनल मैच नहीं खेला। हाल ही में धोनी चैन्नई में आयोजित चैन्नई सुपर किंग्स के कैंप से जुड़े थे, लेकिन IPL स्थगित होने के बाद कैंप को खत्म कर दिया गया और धोनी सहित सभी खिलाड़ी अपने-अपने घर लौट गए।उम्मीद लगाई जा रही थी के धोनी अगर IPL में अच्छा प्रदर्शन करेंगे तो उन्हें ऑस्ट्रेलिया में इस साल होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप के लिए टीम में जगह मिल सकती है। लेकिन अब कोरोनावायरस के कारण IPL के आयोजन पर भी संशय है। ऐसे में अगर IPL नहीं होता है तो, धोनी का टीम में वापसी कर पाना लगभग असंभव ही माना जा रहा है। अगर ऐसा होता है तो धोनी संन्यास भी ले सकते हैं।

यह खबर भी पढ़ें - क्रिकेट: एमएस धोनी की टीम इंडिया में नहीं होगी वापसी ! इस क्रिकेटर ने किया खुलासा

यही कारण है की धोनी के फैंस की निगाहें उनकी वापसी के लिए IPL पर लगी थीं। कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री ने भी कहा था कि, धोनी की वापसी पर IPL तक इंतजार करना चाहिए। दूसरी ओर, वीरेंद्र सहवाग ने कहा था कि, अब टीम में बदलाव की जरूरत नहीं है। सेलेक्टर्स पहले ही धोनी से आगे बढ़ चुके हैं और बतौर विकेटकीपर ऋषभ पंत और लोकेश राहुल उनके रिप्लेसमेंट के रूप में उन्हें मिल गए हैं। दोनों फॉर्म में भी चल रहे हैं, ऐसे में धोनी कहां फिट होंगे?। मुझे लगता है कि, कोई कारण नहीं है कि उन्हें बाहर रखा जाए और धोनी को टीम में शामिल किया जाए।  

धोनी का करियर
पूर्व कप्तान धोनी के करियर की बात करें तो उन्होंने टीम इंडिया के लिए 90 टेस्ट में 38.09 की औसत से 4876 रन बनाए। जिसमें 6 शतक और 33 अर्धशतक शामिल हैं। वनडे में धोनी ने 350 मैच में 50.57 की औसत 10,773 रन बनाए हैं। इसमें 10 शतक और 73 अर्धशतक शामिल हैं। वहीं उन्होंने 98 टी-20 में 37.60 की औसत से 1617 रन बनाए। IPL में भी धोनी का प्रदर्शन बेहतरीन रहा है। उन्होंने 190 मुकाबलों में 42.20 की औसत से 4432 रन बनाए। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 137.85 का रहा। उन्होंने 23 अर्धशतक भी लगाए हैं। बता दें कि धोनी किक्रेट जगत के एक मात्र ऐसे कप्तान है जिन्होंने आईसीसी की तीन बड़े खिताब आईसीसी वन-डे विश्वकप, टी-20 विश्वकप और चैंम्पियन ट्रॉफी जीती है।

खबरें और भी हैं...