दैनिक भास्कर हिंदी: कोरोनावायरस: युवराज सिंह ने बताया, क्रिकेट फिर से शुरू कब किया जाना चाहिए

April 25th, 2020

हाईलाइट

  • युवराज ने कहा- क्रिकेट फिर से शुरु तभी करना चाहिए, जब कोरोनावायरस महामारी पूरी तरह से खत्म हो जाए
  • युवराज ने कहा- मेरे निजी विचार यह है कि, हमें पहले अपने देश को, विश्व को कोरोनावायरस से बचाना चाहिए

डिजिटल डेस्क। कोरोनावायरस महामारी के कारण दुनियाभर में लगभग सभी स्पोर्ट्स इवेंट्स रद्द या स्थगित कर दिए गए हैं। इस बीच भारतीय टीम के पूर्व ऑलराउंडर युवराज सिंह ने शानिवार को कहा कि, क्रिकेट फिर से शुरू तभी करना चाहिए, जब कोरोनावायरस महामारी पूरी तरह से खत्म हो जाए। उन्होंने कहा कि, खिलाड़ियों की सेहत और सुरक्षा खेल प्रशासकों के लिये सर्वोपरि होनी चाहिए। सभी खेलों की तरह घरेलू और इंटरनेशनल क्रिकेट भी महामारी के कारण बंद है। ऐसे में विभिन्न बोर्ड दर्शकों के बिना खाली स्टेडियमों में मैच कराने के बारे में सोच रहे हैं। 

युवराज ने कहा, इस समय जरूरी है कि कोरोनावायरस से निपटने पर ध्यान दिया जाए, जिसने पूरे विश्व की रफ्तार को रोक दिया है। उनका मानना है कि, क्रिकेट जैसी बाकी गतिविधियां इंतजार कर सकती हैं और हमारी प्राथमिकता कोरोनावायरस को खत्म करना होना चाहिए, क्योंकि खिलाड़ी जब खेले तो उसे इस बीमारी का डर नहीं होना चाहिए।

हमें पहले अपने देश और विश्व को कोरोनावायरस से बचाना चाहिए
युवराज ने कहा, मेरे निजी विचार यह है कि, हमें पहले अपने देश को, विश्व को कोरोनावायरस से बचाना चाहिए। उन्होंने कहा, कोरोनावायरस पूरी तरह से खत्म हो जाना चाहिए या 90-95 प्रतिशत तक, क्योंकि अगर यह बढ़ता रहा तो खिलाड़ी बाहर आने से, मैदान पर जाने से, ड्रेसिंग रूम में जाने से डरेंगे।

खिलाड़ी खेलते समय कोरोनावायरस का डर नहीं चाहता
युवराज ने कहा कि, खिलाड़ी पहले से ही अच्छा प्रदर्शन करने के दबाव में होता है। ऐसे में स्वास्थ की चिंता उसकी स्थिति को और खराब कर सकती है। युवराज ने कहा, एक खिलाड़ी के तौर पर, जब आप अपने देश, अपने क्लब के लिए खेलते हो तो काफी दबाव में रहते हो। आप जब खेलना चाहते हो तो कोरोनावायरस का डर नहीं चाहते हो।

युवराज ने कहा, जैसे आप जब ग्ल्व्ज पहनते तो उसमें पसीना आता है। आप बल्लेबाजी कर रहे हो और आपको केला खाना है जिसे दूसरा खिलाड़ी ने पकड़ा है और आप सोचते हैं कि यह केला मैं नहीं खाऊंगा, क्योंकि दूसरा खिलाड़ी इसे पकड़े हुए है। बाएं हाथ के पूर्व बल्लेबाज ने कहा, आप जब खेलना चाहते हो तो आप अपने दिमाग में यह सारे सवाल नहीं चाहते हो। आप गेंद पर ध्यान देना चाहते हो, यह मेरा विचार है। इस पर लोग अपनी राय रख सकते हैं।