दैनिक भास्कर हिंदी: महिला की खोपड़ी, बाल व हड्डियां अलग-अलग जगह फेंककर आरोपी फरार

December 9th, 2019

डिजिटल डेस्क,नागपुर।  वेलतुर पुलिस स्टेशन अंतर्गत डोंगरमौदा क्षेत्र में धान के खाली खेत में अधजला शव मिलने से क्षेत्र में हड़कंप मच गया। मनुष्य की खोपड़ी, बाल व हड्डियां अलग-अलग पाई गई हैं। घटना रविवार की दोपहर तीन से साढ़े तीन बजे की बीच की बताई जा रही है। घटना की जानकारी मिलते ही वेलतुर के थानेदार प्रदीप कविश्वर अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे। प्राथमिक तौर पर महिला का शव होने की आशंका है। 

ढूंढ़ने पहुंची बेटियां
पुलिस के अनुसार खेत मालिक लीलाबाई सूर्यभान वासनिक (65) दहेगांव, वर्तमान में धरमनगर, नागपुर निवासी की डोंगरमौदा से दहेगांव के बीच धान की खेती है, जिसमें वह खेती करती है। 2 दिसंबर को वो नागपुर से अपने गांव आई और अपने भतीजे गिरीधर वासनिक के यहां रुकी थी। वह थ्रेसर की सहायता से धान खेत से धान निकाल कर उसे मांढल की राइस मिल में ले गई। यह सभी कार्य 2 व 3 तारीख को किया गया। इस काम में उसके बेटे राहुल वासनिक (29) ने मदद की। बुधवार को वह दोबारा खेत में धान के ढेर के नीचे बची धान की बालियां निकालने गई थी। धान निकालने के बाद वो बुधवार को डोंगरमौदा के शंकर वानखेड़े के घर रुकी थी। बाद में जब वह नागपुर नहीं पहुंची, तो रविवार को लीलाबाई की बेटियां अनिता और पिंकी दहेगांव गईं। वहां पूछताछ करने के बाद दोनों खेत में गईं। 

डीएनए टेस्ट से पता चलेगा
खेत में जाने के बाद वहां तनस जली हुई नजर आई। तनस के ढेर में फावड़ा आदि सामग्री मिली। वहीं पर हड्डियां और उनकी मां का बैग, चप्पल का टुकड़ा और हाथ की चूड़ियां दिखाई पड़ी। इससे आशंका व्यक्त की गई कि उनकी मां को जलाकर मार दिया गया है। इसकी जानकारी डोंगरमौदा के पुलिस पटेल  संजय भोतमांगे ने वेलतुर पुलिस स्टेशन को दी। थानेदार प्रदीप कविश्वर, उपविभागीय पुलिस अधिकारी पौर्णिमा तावरे घटनास्थल पर पहुंचे। मौके पर फॉरेंसिक टीम को भी बुलाया गया। अब डीएनए टेस्ट के बाद ही पता चल सकेगा कि अधजला शव किसका है। वे लीलाबाई के अवयव हैं या किसी और का है। उनकी बेटियों की बात से ऐसा लग रहा है कि यह लीलाबाई का शव है। घटना को लेकर कई तरह की आशंका भी है। पुलिस जांच कर रही है।