दैनिक भास्कर हिंदी: शराब पिलाकर किया आदिवासी महिला से सामूहिक दुराचार, आरोपी गिरफ्तार

April 9th, 2019

डिजिटल डेस्क,शहडोल। कोतवाली क्षेत्र से कुछ किलोमीटर दूर ही जंगली रास्ते से आ रही एक आदिवासी महिला के साथ सामूहिक दुराचार का मामला प्रकाश में आया है। आरोपी महिला को लिफ्ट देने के बहाने से ले गए और फिर शराब पिलाकर उसके साथ सामूहिक दुराचार किया। शिकायत पर पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए वारदात के कुछ ही घंटों में आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। यह घटना शुक्रवार की शाम करीब 7 बजे की बताई गई है।

घर लौट रही थी महिला

पाली रोड निवासी 30 वर्षीय आदिवासी महिला शाम के समय अपने घर लौट रही थी। रास्ते में उसकी जान पहचान का शाका उर्फ श्याम कुमार रजक अपने दोस्त चंदन उर्फ बाबुल शर्मा के साथ बाइक पर मिला। जिन्होंने कहा कि चलो हम घर छोड़ देते हैं। महिला उनके साथ बाइक में बैठ गई। दोनों उसे कल्याणपुर की ओर ले गए और रास्ते में शराब पी और महिला को भी शराब पिलायी। इसके बाद दोनों ने उसके साथ बलात्कार किया और वहीं छोड़कर भाग गए।

संभावित ठिकानों पर दी दबिश

महिला किसी तरह अपने घर पहुुंची और परिजनों को बताया। परिजनों के साथ कोतवाली पहुंचकर रिपोर्ट दर्ज कराई। दोनों आरोपियों के विरुद्ध धारा 376 (2), (एन), 376 (डी) एवं 3 (2) 5 एससी एसटी एक्ट का अपराध दर्ज किया गया। इसके बाद पुलिस सक्रिय हुई और आरोपियों को उनके ठिकानों से रविवार को गिरफ्तार कर लिया। दोनों को सोमवार को न्यायालय में पेश किया गया। घटना में प्रयुक्त बाइक भी जब्त की गई। आरोपियों की गिरफ्तारी टीआई रावेंद्र द्विवेदी के नेतृत्व में एसआई कुंदन मानेश्वर, अर्चना धुर्वे, एएसआई रजनीश तिवारी, आरक्षक निर्मल मिश्रा की भूमिका रही।

कट्टा सहित पकड़ाया निगरानी बदमाश

कोतवाली पुलिस ने निगरानी शुदा बदमाश नफीस 36 वर्ष पिता नियाज खान निवासी पुरानी बस्ती को कट्टा व दो जिंदा कारतूस सहित गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपी के विरुद्ध कोतवाली में 58 अपराधिक प्रकरण दर्ज हैं। रविवार को पुलिस को सूचना मिली थी कि नफीश हथियार लेकर इलाके में घूम रहा है, जो संगीन वारदात कर सकता है। सूचना पर टीआई के मार्गदर्शन में एसआई आशीष झारिया, एएसआई दिलीप सिंह, प्रधान आरक्षक महिपाल नामदेव, आरक्षक निर्मल द्वारा घेराबंदी कर आरोपी को पकड़ लिया गया। उसके कब्जे से 12 बोर का देशी कट्टा व दो कारतूस बरामद किया गया।  उसके विरुद्ध 25, 27 आम्र्स एक्ट का अपराध दर्ज किया गया