दैनिक भास्कर हिंदी: कैसे करें गणेश यंत्र की स्थापना और क्या हैं इसके लाभ

June 17th, 2018

डिजिटल डेस्क, भोपाल। भगवान शिव के पुत्र गणेश जी की पूजा हर शुभ कार्य करने से पहले की जाती है। गणेश जी को प्रथम पूजनीय माना गया है। यदि कोई पूजा-कर्म भी करवाया जा रहा है तो उससे पूर्व छोटी सी गणेश पूजा होना अनिवार्य मानी गई है। ऐसी मान्यता है कि गणेश जी का नाम लेने से ही किए जा रहे कार्य के सभी विघ्न दूर हो जाते हैं। नए घर का उद्घाटन हो, नई फैक्ट्री या ऑफिस का उद्घाटन या शादी-ब्याह जैसे कोई रीति-रिवाज ही क्यों ना हो, इन सभी कार्यों को करने के समय कोई विघ्न ना आए इसके लिए गणेश पूजा की जाती है।

किंतु जीवन के छोटे-छोटे विघ्नों को दूर करने के लिए क्या किया जाए। इसके लिए भी गणेश जी से जुड़ा ज्योतिष शास्त्र का एक उपाय उपस्थित है। यह उपाय गणेश यंत्र द्वारा किया जाता है।

किसी विशेष स्थान से गणेश यंत्र लाएं और प्रतिदिन इसकी विधिवत पूजन करें।  

पूजा के दौरान संकटनाशक गणेश स्त्रोत का पाठ करें। ऐसा करने से गणेश जी प्रसन्न होते हैं।

 


एक अन्य उपाय के अनुसार श्रीगणेश यंत्र के सामने गाय के घी से मिश्रित अन्न की आहुतियां देने से धन-धान्य की कमी नहीं होती। प्रतिदिन एक हजार आहुति देने से व्यक्ति एक ही पक्ष (15 दिनों) में धनवान हो जाता है, ऐसी मान्यता प्रचलित है।

किन्तु यदि आप उपरोक्त बताई गई विधियों को करने में असमर्थ हो रहे हैं तो प्रतिदिन सुबह स्नान करने के पश्चात गणेश यंत्र के सामने आसन लगाएं और मूलमन्त्र - ऊँ गं गणपतयै नमः का कम से कम 3 माला जाप करें। आपके जीवन पर आने वाले विघ्न पहले ही अपना रास्ता बदल लेंगे।

यह गणपति यंत्र नि:संदेह चमत्कारी है। यह गणेश यंत्र मानव के समस्त कार्यों को सिद्ध करता है। इस यंत्र साधना द्वारा मानव को गणेश भगवान जी की कृपा शीघ्र प्राप्त होती है और मानव पूर्ण लाभान्वित होता है।

 


उच्च विधि अनुसार गणेश यंत्र को शुक्ल पक्ष की चतुर्थी ति‍थि को शुभ मुहूर्त में शास्त्रोक्त विधान से ताम्रपत्र पर निर्माण करा लें। यंत्र को खुदवाना नि‍षेध है। यंत्र के साथ कुम्हार के चाक की मृण्मय गणेश प्रतिमा, जो उसी दिन बनाई गई हो उसे भी स्थापित करें।

भगवान गणेश व देवी लक्ष्मी की संयुक्त शक्ति आपको कठिन समय से बाहर निकालने में मदद करती है। इस यंत्र का स्वामी शुक्र है, जो आपको जीवन में आगे लेकर जाने में मदद करता है। इससे आप जीवन में ख्याति यश और मनोबल प्राप्त करते हैं। इससे आप का आर्थिक पक्ष भी सुधरता है।

अगर आप जीवन में स्थायी और अच्छी आर्थिक स्थिति व प्रसन्नता का आनंद लेना चाहते हैं तो आपको सक्रिय गणेश यंत्र लेना चाहिए एवं उसकी पूजा अर्चना करनी चाहिए।