comScore

आरडी बर्मन ने इस तरह से दिया था सुदेश भोंसले को ब्रेक

August 28th, 2020 13:00 IST
 आरडी बर्मन ने इस तरह से दिया था सुदेश भोंसले को ब्रेक

हाईलाइट

  • आरडी बर्मन ने इस तरह से दिया था सुदेश भोंसले को ब्रेक

मुंबई, 28 अगस्त (आईएएनएस)। गायक सुदेश भोंसले ने अपने बीते दिनों से उस मजेदार वाक्ये को याद किया जब साल 1998 में आई फिल्म जलजला में उन्हें बॉलीवुड में अपना पहला ब्रेक मिला था।

इस किस्से को साझा करते हुए उन्होंने बताया, आशा (भोंसले) जी ने एक बार मुझे स्टूडियो में सचिन दा (एसडी बर्मन) की आवाज में गाते हुए सुना था। फिर एक बार जब मेरी उनसे मुलाकात व्यक्तिगत तौर पर हुई तो उन्होंने मुझे अपने सामने कोई गाना गाकर सुनाने को कहा और मैंने फिल्म अमर प्रेम से सचिन दा के गीत डोली में बिठाई के को गाया। कुछ दिनों के बाद मुझे पंचम दा (आरडी बर्मन) के मैनेजर की तरफ से अपने पड़ोसी के टेलीफोन पर एक कॉल आया, जिसमें मुझे अपने पासपोर्ट के साथ सुबह दस बजे तक म्यूजिक स्टूडियो पहुंचने को कहा गया।

जब वह कमरे में घुसे, तो उन्होंने आशा भोंसले और आरडी बर्मन के साथ कई दिग्गज कलाकारों को देखा।

सुदेश आगे कहते हैं, जैसे ही आशा जी ने मुझे देखा, उन्होंने मेरी ओर इशारा कर पंचम दा से कहा, यही वह शख्स है। मैं उस वक्त बेहद हैरान रह गया जब पंचम दा ने मुझसे कुछ अलग आवाज में कहा, मेरे बाप की आवाज में गाते हो और मैं बस उनसे इतना ही कह पाया कि नहीं सर, मैं बस उनका फैन हूं। आशा जी ने जो किया था वह ये कि मेरा गाना सुनने के बाद उन्होंने इसे बिना किसी म्यूजिक के एक कैसेट में रिकॉर्ड कर लिया था और एक दिन उन्होंने उस कैसेट को उस वक्त बजाया जब पंचम दा नहाने गए हुए थे। पंचम दा बेहद हैरान हो गए और डर भी गए क्योंकि उन्हें लगा कि उनके पिता बाहर गाना गा रहे हैं, जबकि सचिन दा दो साल पहले ही गुजर गए थे।

गायक ने आगे बताया, इस घटना के बाद, पंचम दा ने मुझे 1986 में अपने साथ हॉन्गकॉन्ग ले जाने का फैसला लिया, जहां मैंने कई अलग-अलग कलाकारों की आवाज में गीत गाए, लेकिन जब मैंने सुन मेरे बंधु को गाया, तो पंचम दा ने मुझे गले से लगा दिया और कहा कि मुंबई पहुंचने के बाद वह पहले मेरी आवाज में अपना गाना रिकॉर्ड करेंगे। मुझे उन्हीं की वजह से जलजला में अपना पहला ब्रेक मिला।

सुदेश भोंसले ने सा रे गा मा पा लिल चैंप्स के एक एपिसोड के रिकॉर्डिग के दौरान इस पर बात की।

एएसएन-एसकेपी

कमेंट करें
oOmYv
NEXT STORY

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। टोक्यो ओलंपिक का काउंटडाउन शुरु हो चुका हैं। 23 जुलाई से शुरु होने जा रहे एथलेटिक्स त्यौहार में भारतीय दल इस बार 120 खिलाड़ियों के साथ 18 खेलों में दावेदारी पेश करेगा। बता दें 81 खिलाड़ियों के लिए यह पहला ओलंपिक होगा। 120 सदस्यों के इस दल में मात्र दो ही खिलाड़ी ओलंपिक पदक विजेता हैं। पी.वी सिंधू ने 2016 रियो ओलंपिक में सिल्वर तो वहीं मैराकॉम ने 2012 लंदन ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था।

भारत पहली बार फेंनसिग में चुनौता पेश करेगा। चेन्नई की भवानी देवी पदक की दावेदारी पेश करेंगी। भारत 20 साल के बाद घुड़सवारी में वापसी कर रहा है, बेंगलुरु के फवाद मिर्जा तीसरे ऐसे घुड़सवार हैं जो ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। 

olympic

युवा कंधो पर दारोमदार

टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने जा रहे भारतीय दल में अधिकतर खिलाड़ी युवा हैं। 120 खिलाड़ियों में से 103 खिलाड़ी 30 से भी कम आयु के हैं। मात्र 17 खिलाड़ी ही 30 से ज्यादा उम्र के होंगे। 

भारतीय दल में 18-25 के बीच 55, 26-30 के बीच 48, 31-35 के बीच 10 तो वहीं 35+ उम्र के 7 खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं। इस लिस्ट में सबसे युवा 18 साल के दिव्यांश सिंह पंवार हैं, जो शूटिंग में चुनौता पेश करेंगे, तो वहीं सबसे उम्रदराज 45 साल के मेराज अहमद खान होंगे जो शूटिंग में ही पदक के लिए भी दावेदार हैं।