comScore

श्वेता तिवारी ने दूसरी असफल शादी के बारे में की बात, कहा- मुझमें है न कहने की हिम्मत

श्वेता तिवारी ने दूसरी असफल शादी के बारे में की बात, कहा- मुझमें है न कहने की हिम्मत

डिजिटल डेस्क, मुम्बई। पॉपुलर टीवी एक्ट्रेस श्वेता तिवारी की पर्सनल लाइफ काफी उतार चढ़ाव भरी रही है। पहली शादी के असफल होने के बाद एक्ट्रेस ने दूसरी शादी की। दूसरी शादी के कुछ समय बाद उन्हें फिर दिक्कतों का सामना करना पड़ा। दरअसल, कुछ समय पहले श्वेता ने अपने दूसरे पति अभिनव कोहली के खिलाफ घरेलू हिंसा का मामला दर्ज करवाया था। लेकिन इस मुद्दे पर उन्होंने कभी खुलकर बात नहीं की थी। हाल ही में एक इंरव्यू में श्वेता ने अपनी शादी की तुलना एक जहरीले घाव से की। 

श्वेता ने बताया कि वह बहुत खुश है, स्पेशली अपने आने वाले शो 'मेरे डैड की दुल्हन' को लेकर काफी उत्साहित हैं। लेकिन दूसरी शादी में मिली असफलता उन्हें तोड़ दिया। श्वेता ने बताया कि 'लोग कह रहे हैं कि दूसरी शादी भी कैसे गलत हो सकती है, मैं उनसे पूछना चाहती हूं कि चीजें गलत क्यों नहीं हो सकती हैं? कम से कम, मुझे इसका सामना करने और और समस्या के बारे में बात करने की हिम्मत तो है। आज मैं जो कुछ भी कर रही हूं, अपने परिवार और अपने बच्चों की बेहतरी के लिए कर रही हूं।'

एक्ट्रेस ने आगे कहा कि 'यहां बहुत सारे लोग हैं जो शादीशुदा हैं लेकिन फिर भी उनके बॉयफ्रेंड और गर्लफ्रेंड हैं। मुझे लगता है कि मैं उनसे बेहतर हूं। कम से कम मुझमें ये कहने की हिम्मत है कि मैं आपके साथ नहीं रहना चाहती। मैं उन सभी महिलाओं को संदेश देना चाहती हूं, जो अपने विवाहित जीवन की परेशानियों के बारे में बात करने से कतराती हैं क्योंकि उन्हें डर लगता है। वे दर्द से गुजरती रहती हैं और चुपचाप सब कुछ सहन करती रहेंगी। वो ऐसा करके अपने बच्चों को अच्छा जीवन नहीं दे पाएंगी। इसलिए महिलाएं कृपया दर्द सहन न करें और बाहर आकर इस बारे में बात करें।'

कमेंट करें
cKW3J
NEXT STORY

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। टोक्यो ओलंपिक का काउंटडाउन शुरु हो चुका हैं। 23 जुलाई से शुरु होने जा रहे एथलेटिक्स त्यौहार में भारतीय दल इस बार 120 खिलाड़ियों के साथ 18 खेलों में दावेदारी पेश करेगा। बता दें 81 खिलाड़ियों के लिए यह पहला ओलंपिक होगा। 120 सदस्यों के इस दल में मात्र दो ही खिलाड़ी ओलंपिक पदक विजेता हैं। पी.वी सिंधू ने 2016 रियो ओलंपिक में सिल्वर तो वहीं मैराकॉम ने 2012 लंदन ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था।

भारत पहली बार फेंनसिग में चुनौता पेश करेगा। चेन्नई की भवानी देवी पदक की दावेदारी पेश करेंगी। भारत 20 साल के बाद घुड़सवारी में वापसी कर रहा है, बेंगलुरु के फवाद मिर्जा तीसरे ऐसे घुड़सवार हैं जो ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। 

olympic

युवा कंधो पर दारोमदार

टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने जा रहे भारतीय दल में अधिकतर खिलाड़ी युवा हैं। 120 खिलाड़ियों में से 103 खिलाड़ी 30 से भी कम आयु के हैं। मात्र 17 खिलाड़ी ही 30 से ज्यादा उम्र के होंगे। 

भारतीय दल में 18-25 के बीच 55, 26-30 के बीच 48, 31-35 के बीच 10 तो वहीं 35+ उम्र के 7 खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं। इस लिस्ट में सबसे युवा 18 साल के दिव्यांश सिंह पंवार हैं, जो शूटिंग में चुनौता पेश करेंगे, तो वहीं सबसे उम्रदराज 45 साल के मेराज अहमद खान होंगे जो शूटिंग में ही पदक के लिए भी दावेदार हैं।