फर्जी-खबर: यूपी के चुनाव प्रसार में खुली कांग्रेस की पोल, वायरल तस्वीर निकली फर्जी 

January 12th, 2022

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। यूपी में चुनावी माहौल चल रहा है। सभी अपनी-अपनी पार्टी के चुनाव प्रसार व उसे सत्ता में लाने के लिए अलग-अलग पैंतरे अपना रहे हैं। इसी बीच सोशल मीडिया पर एक फोटो काफी तेजी से वायरल हो रही है। वायरल तस्वीर में दो व्यक्ति एक पोस्टर को पकड़े हुए दिख रहे हैं। दोनों में से एक व्यक्ति भगवा रंग के कपड़े पहने हैं और दूसरा व्यक्ति सफेद रंग के लिबास में है। कांग्रेस के एक वेरीफाइड ट्विटर हैंडल से ये तस्वीर ट्वीट होने के बाद से सुर्खियों में हैं।

वेरीफाईड हैंडल ने तस्वीर को किया ट्वीट

बता दें कि इस वायरल तस्वीर को स्वयं यूपी यूथ कांग्रेस के वेरीफाइड यूजर ने ट्वीटर पर ट्वीट किया है। इस तस्वीर को ट्वीट करते हुए लिखा है कि 'ये तस्वीर इस ओर भी इशारा कर रही है कि उत्तरप्रदेश के दिल में इस बार सिर्फ कांग्रेस है। हिन्दू मुस्लिम सिक्ख ईसाई आपस में हम भाई-भाई, बोलता उत्तरप्रदेश आ रही है कांग्रेस।'  कांग्रेस के समर्थन में इस ट्वीट को कई लोगों ने रिट्वीट भी किया है। 

खुली भ्रामक तस्वीर की पोल

कांग्रेस द्वारा शेयर की गई इस तस्वीर के कई पहलू सामने निकल कर आए है। इस फोटो की छान बीन करने के बाद पता चला कि यह फोटो भ्रामक है। इंडिया टुडे ने अपनी जांच में पाया कि वायरल फोटो के साथ छेड़छाड़ की गई है। दरअसल, यह तस्वीर बंगाल के सीएम ममता बनर्जी के पोस्टर की है। तस्वीर में दोनों व्यक्ति पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी और उनकी पार्टी तृणमूल कांग्रेस के समर्थन वाला पोस्टर पकड़े खड़े हैं। छानबीन में इसकी असली तस्वीर हाथ लग गई। ये फोटो 2 मार्च 2021 को ममता बनर्जी सरकार के एक अभियान में शेयर की गई थी, जिसे बंगाल की जनता की तकलीफों का निवारण करने के लिए शुरू किया गया था। शेयर करने वालों में "Didi Ke Bolo" नाम का एक वेरीफाइड फेसबुक पेज भी था जिस पर यह फोटो शेयर की गई थी। साथ ही तृणमूल कांग्रेस नेता और सांसद नुसरत जहां ने भी 2 मार्च 2021 को असली फोटो ट्वीट की थी। 

वायरल तस्वीर की छानबीन के बाद इन तस्वीरों के साथ एक अन्य तस्वीर भी हाथ लगी, जो इन तस्वीरों से मिलती-जुलती है। खैर इन तस्वीरों को मिलान करने के बाद यह बात साफ है कि यूपी यूथ कांग्रेस द्वारा शेयर की गई यह तस्वीर फर्जी है। यह तस्वीर पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी और उनकी पार्टी तृणमूल कांग्रेस के समर्थन वाले पोस्टर के साथ छेड़छाड़ कर तैयार की गई है।