मोदी-बाइडेन मुलाकात: मोदी-बाइडेन की मुलाकात से पहले जानिए कैसे थे पीएम मोदी से ओबामा और ट्रंप के रिश्ते?

September 24th, 2021

हाईलाइट

  • मोदी-बाइडेन की मुलाकात से पहले जानिए कैसे थे पीएम मोदी से ओबामा और ट्रंप के रिश्ते?

डिजिटल डेस्क, वाशिंगटन। देश के प्रधानमंत्री इन दिनों अमेरिका के तीन दिवसीय दौरे पर पहुंचे हैं। इस दौरान उन्होंने अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस से मुलाकात की। आप को बता दें कि अमेरिका में नई सरकार के गठन के बाद पीएम मोदी की यह पहली यात्रा है। इससे पहले पीएम मोदी बराक ओबामा और डोनाल्ड ट्रंप के शासन काल में भी अमेरिका की यात्रा कर चुके हैं। पीएम मोदी की बराक ओबामा और डोनाल्ड ट्रंप के साथ जबरदस्त केमिस्ट्री ने भारत और अमेरिका के संबंधों को नई ऊंचाइयों पर पहुंचा दिया है। अब निगाहें बतौर राष्ट्रपति जो बाइडेन के साथ पीएम मोदी की पहली मुलाकात पर होगी। जानिए ओबामा और ट्रंप के साथ कैसे थे पीएम मोदी के रिश्ते?

गणतंत्र दिवस के अवसर पर मुख्य अतिथि बने थे औबामा

 

Obama feted in Delhi as US cements closer ties with India | India | The  Guardian

 बता दें कि जब मई 2014 में नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री बने थे तब बराक ओबामा अमेरिका के राष्ट्रपति थे। और साल 2015 में गणतंत्र दिवस के अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि बनकर भारत पहुंचे थे। ऐसा पहली बार हुआ था जब अमेरिका का कोई राष्ट्रपति 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि भारत आया हो। गणतंत्र दिवस परेड के दौरान करीब 2 घंटे के दौरान दोनों नेता बात करते रहे और यहां से रिश्तों में बनी गर्मजोशी बढ़ती ही गई। 
 
जब ओबामा ने मोदी की तारीफ की थी

गौरतलब है कि टाइम मैगजीन के सर्वे में मोदी को 100 सबसे प्रभावशाली शख्सियतों की सूची में शामिल किया था। जिसके बाद ओबामा ने मोदी के बारे में कहा कि वो उभरते भारत की गतिशीलता और क्षमता का प्रतिबिंब है। 

ओबामा ने खुलकर किया था समर्थन

ओबामा ने एनएसजी, मिसाइल कंट्रोल रिजीम, सुरक्षा परिषद में भारत की स्थायी सदस्यता का पुरजोर समर्थन किया। 28 जून 2016 को भारत एमटीसीआर क्लब में शामिल हो गया, जिससे उसे क्रूज मिसाइल और अन्य संवेदनशील सैन्य तकनीक हासिल हो पाई। पाकिस्तान पर आतंकवाद पर कठोर कार्रवाई को लेकर शिकंजा कसा गया था। मोदी का ओबामा से रिश्ता काफी गहरा माना जाने लगा था। 

कितनी बार मिले थे ओबामा-मोदी  

बता दें कि सितंबर 2016 में पीएम मोदी और ओबामा वियांतिने में ईस्ट एशिया समिट के दौरान द्विपक्षीय बैठक की। यह दो साल के भीतर दोनों नेताओं की 8वीं मुलाकात थी। सितंबर 2014 में दोनों नेताओं की पहली मुलाकात हुई थी, जब पीएम मोदी यूएन महासभा के सालाना अधिवेशन में हिस्सा लेने अमेरिका गए थे।  

जब ट्रंप से पहली बार मिले मोदी 

अक्सर कहा जाता है कि `First impression is the last impression` यही  मोदी और ट्रंप के साथ हुआ था। जब मोदी पहली बार ट्रंप से मिले थे तभी दोनों की जोड़ी जम गई थी। बता दें कि अक्सर मोदी और ट्रंप की जोड़ी के रिश्ते सुर्खियों में रहे हैं। दरअसल, साल 2016 में अमेरिकी राष्ट्रपति बने रिपब्लिकन नेता डोनाल्ड ट्रंप  पीएम मोदी से पहली मुलाकात 27 जून 2017 को हुई थी। जब प्रधानमंत्री अमेरिकी यात्रा पर थे। ट्रंप ने इस दौरान कहा था कि भारत-अमेरिका संबंध कभी इतना मजबूत नहीं रहे। नमस्ते ट्रंप और हाउडी मोदी को ट्रंप के दोबारा चुनाव अभियान के समर्थन के तौर पर भी देखा गया था।

भारत में 'नमस्ते ट्रंप'  

46 million people watched Namaste Trump event on 180 TV channels: BARC data  | Deccan Herald

बता दें कि डोनाल्ड ट्रंप अपने कार्यकाल के आखिरी साल 2020 के फरवरी माह में भारत आए जहां अहमदाबाद में उनका अभूतपूर्व स्वागत हुआ। नरेंद्र मोदी स्टेडियम  में लगभग 50 हजार की भीड़ के बीच नमस्ते ट्रंप कार्यक्रम ऐतिहासिक रहा था। हालांकि इस भव्य आयोजन पर भारी खर्च को लेकर मोदी सरकार की आलोचना भी हुई थी। नागरिकता संशोधन कानून को लेकर दिल्ली में हुई हिंसा के बीच ट्रंप का यह दौरा काफी चर्चा में रहा था। 

ऐतिहासिक `हाउडी मोदी` 

 Howdy, Modi! from the audience: How Narendra Modi, Donald Trump held the  world's attention - News Analysis News

गौरतलब है कि 23 सितंबर 2019 को टेक्सास में हुए हाउडी मोदी का भव्य आयोजन किया गया था। उस आयोजन को आखिर कौन भूलेगा? जहां 50 हजार से ज्यादा की भीड़ के बीच 400 से ज्यादा कलाकारों ने रंगारंग प्रस्तुति दी। हाथों में हाथ डाले एनआरजी स्टेडियम पहुंचे ट्रंप और मोदी दोनों एक दूसरे की शान में कसीदे पढ़ते नजर आए। यह वो दौर था जब जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाई गई थी। डोनाल्ड ट्रंप से मिले जोरदार समर्थन से अमेरिकी रुख से संदेह के बादल छट गए। मोदी ने कहा था, भारत को व्हाइट हाउस में सच्चा दोस्त मिल गया है, जो दोस्ताना रवैया रखने के साथ जोश और ऊर्जा से भरपूर है।

खबरें और भी हैं...