comScore

अमेरिका: 96 दिन पहले ट्रंप ने राष्ट्रपति चुनाव को टालने के संकेत दिए, कहा- मेल इन सिस्टम से 2020 का चुनाव इतिहास का सबसे बड़ा फर्जी चुनाव होगा

अमेरिका: 96 दिन पहले ट्रंप ने राष्ट्रपति चुनाव को टालने के संकेत दिए, कहा- मेल इन सिस्टम से 2020 का चुनाव इतिहास का सबसे बड़ा फर्जी चुनाव होगा

हाईलाइट

  • अम​रिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर चुनाव टाले जाने की इच्छा जाहिर की

डिजिटल डेस्क, वॉशिंगटन। कोरोना वायरस के चलते अमेरिका में साल के आखिर में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव टाले सकते हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर इसके संकेत दिए हैं। उन्होंने कहा कि इन चुनावों में मेल इन सिस्टम (ईमेल के जरिए) से वोटिंग होनी है। मेल इन सिस्टम से 2020 का चुनाव इतिहास का सबसे ज्यादा गलत और फर्जी चुनाव होगा। यह अमेरिका के लिए बहुत शर्मनाक होगा। उन्होंने कहा कि चुनाव में देरी तब तक करें जब तक लोग ठीक से, सुरक्षित और सुरक्षित रूप से मतदान कर सकें। बता दें कि इस साल नवंबर में चुनाव होना है ।

अमेरिका में कोरोना वायरस संक्रमण से अब ता 1,50,000 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। विश्व में इस वायरस के कारण सबसे अधिक लोगों की जान अमेरिका में ही गई है। जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय के अनुसार अमेरिका में बुधवार तक कोरोना वायरस की वजह से 150,676 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, देश में 4,426,000 मामले हैं और वायरस से यह दुनिया का सबसे ज्यादा प्रभावित देश है। अमेरिका में कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से पहली मौत 29 फरवरी को हुई थी। 23 अप्रैल तक यानी 54 दिन बाद 50,000 लोगों की मौत हुई और इसके 34 दिन यानी 27 मई तक 100,000 लोगों की मौत हो गई। वहीं, इसके 63 दिन बाद 50,000 और लोगों की मौत हुई।

पहले भी कर चुके मेल-इन बैलेट का विरोध
ट्रम्प ने पहले भी मेल-इन बैलेट्स को धोखा बताया था। उन्होंने कहा था कि डेमोक्रेट्स 2020 के चुनावों में धोखेबाजी करना चाहते हैं। 22 जून को उन्होंने एक ट्वीट किया था। इसमें कहा था कि दूसरे देशों से लाखों लोग मेल-इन बैलेट भेज देंगे। उन्होंने कहा था कि डेमोक्रेट्स महामारी की आड़ में लाखों फर्जी मेल इन बैलेट भेजकर चुनाव में धोखाधड़ी करने की कोशिश कर रहे हैं। लेकिन, हम ऐसा होने नहीं देंगे।

ट्रम्प भी मेल-इन-बैलेट का इस्तेमाल कर चुके हैं
2016 में लगभग एक चौथाई अमेरिकियों ने मेल से वोट डाला था। हाल ही के दिनों में ट्रम्प, उपराष्ट्रपति माइक पेंस, फर्स्ट लेडी मेलानिया, ट्रम्प की बेटी इवांका, दामाद जेरेड कुश्नर, व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव केयलेग मैकनेनी और अटॉर्नी जनरल भी मेल वोटिंग का इस्तेमाल कर चुके हैं।

कमेंट करें
cbjMp