दैनिक भास्कर हिंदी: एशिया यात्रा: जापान में बोले ट्रंप- 'कोई भी तानाशाह अमेरिका को कम न आंके'

November 6th, 2017

डिजिटल डेस्क, टोक्यो। अपने पहले आधिकारिक एशिया दौरे पर पहुंचे अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने अपने कड़े तेवरों में उत्तर कोरिया पर निशाना साधा है। रविवार को योकोता एयर बेस (जापान) पहुंचे ट्रंप ने कहा कि किसी भी तानाशाह को अमेरिका को कम नहीं आंकना चाहिए। यहां वे सेवा कर्मियों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा उत्तर कोरिया पर निशाना साधते हुए कहा कि किसी भी देश, तानाशाह या सरकार को अमेरिका को कम आंकने की भूल नहीं करनी चाहिए और न ही अमेरिका के संकल्प को कम समझना चाहिए। उन्होंने कहा, कि पहले जैसी हमें कम आंकने की गलतियां नहीं करना चाहिए क्यों कि लोगों की आजादी और महान अमेरिकी ध्वज की रक्षा में वे कभी नहीं हारेंगे और न लड़खड़ाएंगे और न ही कभी हिम्मत हारेंगे।

उत्तर कोरिया पर पुतिन की मदद चाहते हैं ट्रंप
अमेरिकी राष्ट्रपति ने बताया कि वे अपनी एशिया यात्रा के दौरान रुस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से मुलाकात कर सकते हैं। ट्रंप ने कहा कि वे उत्तर कोरिया के मुद्दे पर राष्ट्रपति पुतिन की मदद चाहते हैं और वे इसके लिए अपनी यात्रा के दौरान कई नेताओं से मुलाकात करेंगे। ट्रंप ने व्लादिमीर पुतिन की तारीफ करते हुए कहा, कि जितना दुनिया जानती या समझती है उससे ज्यादा महान हैं। वे मेहनती, नरम और अच्छे इंसान हैं।
 

गौरतलब है कि पर्ल हार्बर का दौरा कर ट्रंप 11 दिन के इस दौरे के लिए रविवार को जापान पहुंचे है। ट्रंप दक्षिण कोरिया, चीन, वियतनाम और फिलीपींस का भी दौरा करेंगे। अपने पहले एशिया दौरे पर वे भारत नहीं आ रहे हैं लेकिन बताया जा रहा है कि ट्रंप 12 से 13 नवंबर के बीच फिलीपींस की राजधानी मनीला में दक्षिण-पूर्व एशियाई देशों के सम्मेलन ASEAN में शामिल होंगे। माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी औऱ डोनाल्ड की मुलाकात ASEAN के दौरान फिलीपींस की राजधानी मनीला में हो सकती है। ट्रंप के साथ उनकी पत्नी मेलानिया भी इस दौरे पर उनके साथ आईं हैं।

आपको बता दें कि यह किसी भी अमेरिकी राष्ट्रपति का 25 वर्षों में सबसे लंबा एशिया दौरा है। ट्रंप 7 नवंबर को दक्षिण कोरिया जाएंगे। इसके बाद वे 8 नवंबर को चीन जाएंगे। अमेरिकी राष्ट्रपति चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मुलाकात के बाद 10 और 11 नवंबर को वियतनाम दौरे पर रहेंगे। इसी दौरान वे डानांग में एशिया प्रशांत आर्थिक सहयोग सम्मेलन में हिस्सा लेंगे और हनोई का दौरा करेंगे। 12 से 13 नवंबर के बीच फिलीपींस की राजधानी मनीला में दक्षिण-पूर्व एशियाई देशों के सम्मेलन ASEAN में शामिल होंगे। इस सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ट्रंप की भी मुलाकात हो सकती है।