दैनिक भास्कर हिंदी: विजय माल्या को ब्रिटिश कोर्ट से झटका, भारतीय बैंक बेच सकते हैं इंग्लैंड और वेल्स की संपत्ति

May 9th, 2018

डिजिटल डेस्क, लंदन। भारतीय बैंकों को हजारों करोड़ का चूना लगाने वाले शराब कारोबारी विजय माल्या को एक ब्रिटिश हाई कोर्ट से बड़ा झटका लगा है। कोर्ट ने भारतीय बैंकों की ओर से दायर किए गए मुकदमे में माल्या के खिलाफ फैसला दिया है। कोर्ट ने कहा है कि विजय माल्या के खिलाफ भारतीय कोर्ट के फैसले को इंग्लैंड और वेल्स में उनकी सम्पत्ति पर लागू किया जा सकता है। कोर्ट के इस फैसले के बाद यूके हाई कोर्ट प्रवर्तन अधिकारी अब भारतीय फैसले को लागू करने के लिए कानूनी कदम उठा सकते हैं, जिसमें इंग्लैंड और वेल्स में माल्या की संपत्ति को जब्त करना और बेचना शामिल हो सकता है। बता दें कि 13 भारतीय बैंकों ने 1.15 अरब पौंड (करीब 10 हजार करोड़ रुपए) वसूल करने को लेकर लंदन की कोर्ट में मुकदमा दायर किया था।

मामले की सुनवाई कर रहे जज एंड्रयू हेनशॉ ने कहा कि आईडीबीआई समेत सभी लोन देने वाली बैंक आरोपों से संबंधित भारतीय कोर्ट के फैसले के अनुसार कार्रवाई कर सकते हैं। इसके साथ ही जज हेनशॉ ने माल्या की वह याचिका भी खारिज कर दी है, जिसमें उसने दुनिया भर में फैली अपनी संपत्ति को फ्रीज करने के आदेश को वापस लेने की गुहार लगाई थी। जज हेनशॉ ने माल्या को अपने फैसले के खिलाफ अपील करने की मंजूरी देने से भी इनकार कर दिया है। यानी अब माल्या के वकीलों को इस फैसले के खिलाफ अपील करने के लिए कोर्ट ऑफ अपील में पिटीशन दायर करनी होगी।

इधर, दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने विदेशी मुद्रा नियमन अधिनियम (फेरा) के उल्लंघन से जुड़े मनी लांड्रिंग मामले में कारोबारी विजय माल्या की संपत्ति कुर्क करने के लिए मंगलवार को नया आदेश जारी किया है।

गौरतलब है कि विजय माल्‍या भारतीय बैंकों का 6000 करोड़ रुपए से ज्यादा का कर्ज लेकर फरार है, ब्याज समेत यह रकम करीब 10,000 करोड़ तक पहुंच जाती है। भारतीय बैंको को अरबों की चपत लगाने के बाद से ही माल्या लंदन में रह रहा है। 2 मार्च 2016 से ही माल्या लंदन में रह रहा है। ईडी और सीबीआई को माल्या की वापसी का इंतजार है। ED कई बार विजय माल्या को समन भेज चुका है। प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (PMLA) से जुड़े एक मामले में मुंबई की एक स्पेशल कोर्ट  और FERA उल्लंघन मामले में पटियाला हाउस कोर्ट, विजय माल्या को भगोड़ा अपराधी घोषित कर चुकी है। उसका पासपोर्ट भी रद्द किया जा चुका है। इसी साल फरवरी में भारत ने ब्रिटेन से माल्या के प्रत्यर्पण की भी अपील की थी। ब्रिटेन की कोर्ट में माल्या के प्रत्यर्पण को लेकर भी मुकदमा चल रहा है।