comScore

Coronavirus: गूगल और फेसबुक इस महामारी को रोकने में करेंगे मदद, वायरस को ऐसे करेंगे ट्रेस

Coronavirus: गूगल और फेसबुक इस महामारी को रोकने में करेंगे मदद, वायरस को ऐसे करेंगे ट्रेस

हाईलाइट

  • अमेरिका की संयुक्त राज्य सरकार से टेक कंपनियों की चर्चा हुई
  • Google और Facebook वायरस रोकने में मदद के लिए आगे आईं
  • दोनों कंपनियां यूजर्स की निजता का ध्यान रखते हुए देंगी जानकारी

डि​जिटल डेस्क, नई दिल्ली। चीन के वुहान शहर से शुरू हुआ कोरोना वायरस अब तक दुनिया के 140 से अधिक देशों में अपना कहर बरपा चुका है। इससे संक्रमित लोगों की संख्या 217,856 हो गई है। जबकि मरने वालों की संख्या 8,933 जा पहुंची है। इससे निपटने के लिए अब तक कोई कारगार दवा या वैक्सीन नहीं है। वहीं अब दुनिया के सबसे बड़े सर्च इंजन Google (गूगल) और सबसे बड़ी सोशल मीडिया कंपनी Facebook (फेसबुक) भी इसे रोकने में मदद के लिए आगे आ गए हैं। 

दरअसल, वॉशिंगटन पोस्ट के अनुसार, कोविड -19 कोरोनावायरस महामारी से लड़ने के अपने प्रयास के तहत अमेरिका की संयुक्त राज्य सरकार चाहती है कि टेक कंपनियां इसे ट्रैक करें। ऐसे में दोनों कंपनियां इस पर काम कर रही हैं, ​कि वे लोगों को कोरोना वायरस से लड़ने की व्यक्तिगत जानकारी देने के लिए आगे आ सकें। जब तक कि इस वायरस से निपटने के सही सुरक्षा उपाय पहले नहीं किए जाते।

COVID-19: ट्रंप ने जारी किया 100 बिलियन डॉलर का इमरजेंसी फंड

ऐसे करेंगी मदद
Google, Facebook और अन्य प्रमुख टेक कंपनियां कोविड-19 को फैलने से रोकने और इससे निपटने में मदद करने के लिए ऐप तैयार कर रही हैं। जो कि उपयोगकर्ताओं को "स्वास्थ्य कोड" प्रदान करती हैं।

पत्र में कंपनियों के सहयोग की बात
एक रिपोर्ट के अनुसार, खुले पत्र में वैज्ञानिकों, डॉक्टरों और शोधकर्ताओं ने लिखा था कि अगर तकनकी कंपनियां सहयोग करेंगी तो इस संक्रमण को फैलने से रोका जा सकता है। जिसके बाद अमेरिकी सरकार Facebook, Google और तकनीकी कंपनियों व स्वास्थ्य विशेषज्ञों के साथ विस्तृत बातचीत में है। 

स्मार्टफोन के जरिए ट्रेस
तकनीकि क्षेत्र में Facebook और Google इस प्रोजेक्ट के तहत अमेरिकी लोगों के स्मार्टफोन के जरिए ट्रेस करेंगी, हालांकि इस बात का ख्याल रखा जाएगा कि उन लोगों की लोकेशन पहचान छिपी रहे। गूगल के प्रवक्ता जॉनी लू ने बताया कि पहचान गुप्त रखने के साथ लोकेशन ट्रेस होगी इसकी तैयारी चल रही है।

कोरोनावायरस : आंध्रप्रदेश में कोविड-19 संक्रमण के दूसरे मामले की पुष्टि

राष्ट्रपति ने दिए थे निर्देश
दोनों कंपनियां ट्रेस के आधार पर पता लगाएंगी कि वायरस कहां तक फैला है, साथ ही ये कि किस व्यक्ति को इलाज की जरूरत होगी। बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने यह सलाह देते हुए निर्देश जारी किया है कि लोग 10 या अधिक के समूहों में इकट्ठा होने से बचें। वहीं अमेरिका पर वायरस से लड़ने का दबाव बढ़ गया है। जिसके बाद सरकार ने तकनीकि कंपनियों से मदद ली है।

कमेंट करें
VZdR8