दैनिक भास्कर हिंदी: किम जोंग पर ट्रंप को भरोसा नहीं, 10 दिन में यू-टर्न लेकर बोले- खतरा तो बना हुआ है

June 23rd, 2018

हाईलाइट

  • अमेरिका ने 26 जून 2008 को पहली बार उत्तर कोरिया पर इमरजेंसी लगाई थी।
  • ट्रम्प ने शुक्रवार को उत्तर कोरिया के खिलाफ 11वें साल नेशनल इमरजेंसी लागू करते हुए लिखा- उत्तर कोरिया से परमाणु प्रसार का खतरा अभी भी बना हुआ है।
  • उसके मिसाइल प्रोग्राम और परमाणु कार्यक्रम से अभी भी अमेरिका की सुरक्षा, विदेश नीति और अर्थव्यवस्था को खतरा है।

डिजिटल डेस्क, वॉशिंगटन। सिंगापुर में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग के बीच हुई एतिहासिक मुलाकात के बाद भी लगता है हालात नहीं सुधरे हैं। मुलाकात के बाद ट्रंप ने 13 जून को साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए जो बयान दिया था, अब 10 दिन बात उससे यू-टर्न ले लिया है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में ट्रम्प ने कहा था कि उत्तर कोरिया से अब खतरा नहीं है। अमेरिका चैन की नींद सो सकता है। मगर अब यू-टर्न लेते हुए ट्रंप ने कहा कि खतरा तो अब भी बना हुआ है। बता दें कि अमेरिका ने 26 जून 2008 को पहली बार उत्तर कोरिया पर इमरजेंसी लगाई थी।

असामान्य परमाणु खतरा बना हुआ है
शुक्रवार की रात ट्रंप ने उत्तर कोरिया के खिलाफ नेशनल इमरजेंसी एक साल के लिए बढ़ाते हुए यह जता दिया है कि उन्हें अब भी तानाशाह किम जोंग पर भरोसा नहीं है। ट्रंप ने यू-टर्न लेते हुए कहा कि उत्तर कोरिया से अभी भी असाधारण और असामान्य परमाणु खतरा बना हुआ है। ट्रम्प ने शुक्रवार को उत्तर कोरिया के खिलाफ 11वें साल नेशनल इमरजेंसी लागू करते हुए लिखा- उत्तर कोरिया से परमाणु प्रसार का खतरा अभी भी बना हुआ है। उत्तर कोरिया सरकार की नीतियों और खासकर उसके मिसाइल प्रोग्राम और परमाणु कार्यक्रम से अभी भी अमेरिका की सुरक्षा, विदेश नीति और अर्थव्यवस्था को खतरा है।

गौरतलब है कि अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच 12 जून को पहली बार सिंगापुर में बातचीत हुई थी। 70 साल से दुश्मन रहे अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच यह एतिहासिक मुलाकात थी। इस दौरान ट्रंप ने किम को परमाणु हथियार पूरी तरह खत्म करने पर राजी कर लिया था। ट्रम्प ने बदले में सुरक्षा की गारंटी दी थी। उत्तर कोरिया की बड़ी मांग मानते हुए ट्रम्प ने दक्षिण कोरिया के साथ संयुक्त युद्ध अभ्यास खत्म कर दिया था।