दैनिक भास्कर हिंदी: G-7 में अकेले पड़े ट्रंप तो बीच में छोड़ा सम्मेलन, जस्टिन ट्रूडो को बताया बेईमान

June 11th, 2018

हाईलाइट

  • जी-7 सम्मेलन को बीच में ही छोड़ वापस अमेरिका लौट गए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप
  • कनाड़ा PM ट्रूडो ने कहा कि 1 जुलाई से वह आयात शुल्क के जवाब में टैरिफ़ की घोषणा करेंगे।
  • ट्रंप ने कहा, रूस का जी-7 में फिर से शामिल होना सभी के लिए अच्छा होगा।

डिजिटल डेस्क, ओट्टावा। कनाडा में हुआ जी-7 देशों का दो दिवसीय शिखर सम्मेलन अब बड़े विवाद की वजह बनता जा रहा है। टैरिफ के मसले पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो आमने-सामने आ गए हैं। वजह इतनी बड़ी हो गई कि ट्रंप ने ट्रूडो को बेईमान और कमजोर तक कह दिया। पिछले हफ्ते ही अमरीका ने यूरोपीय यूनियन, कनाडा और मेक्सिको से स्टील और एल्यूमीनियम आयात करने पर टैरिफ लगाने का फैसला किया है। 


ट्रूडो के खिलाफ ट्रंप ने किए कई ट्वीट

जस्टिन ट्रूडो ने अमेरिका के फैसले पर सवाल उठाते हुए जवाब देने की बात कही। उन्होंने राष्ट्रीय सुरक्षा के नाम पर लिए गए फैसले को युद्ध में हिस्सा ले चुके कनाडाई सैन्य कर्मियों का 'अपमान' बताया। इसी बात पर प्रेसीडेंट ट्रंप बिफर गए। उन्होंने सम्मेलन से जाने के बाद ट्रूडो के खिलाफ कई ट्वीट किए।

 

 

ट्रंप ने जस्टिन ट्रूडो पर प्रेस कॉन्फ्रेंस में गलत बयान देने का भी आरोप लगाया है। उन्होंने बताया सच्चाई ये है कि कनाडा अमेरिकी किसानों, मजदूरों और कंपनियों पर भारी टैरिफ लगा रहा है।  

 
इससे पहले जस्टिन ट्रूडो ने उत्तरी अमेरिकी मुक्त व्यापार समझौते (NAFTA) और द्विपक्षीय व्यापार संधि के अमेरिका के प्रस्ताव को खारिज कर दिया था। राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा था कि अगर संशोधित NAFTA डील पर हस्ताक्षर किए जाते हैं, तो वह एल्यूमीनियम और इस्पात उत्पादों पर नए लगाए गए 25 प्रतिशत टैरिफ छोड़ देंगे। वहीं रूस को इस समूह में शामिल करने की अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की अपील को नकारते हुए जी 7 ने ब्रिटेन के उन आरोपों का समर्थन किया, जिसमें उसने कहा था कि रूस ने दक्षिण पश्चिम इंग्लैंड में उसके एक पूर्व खुफिया अधिकारी को जहर देकर मारने का प्रयास किया था।