दैनिक भास्कर हिंदी: पीआईए विमान हादसे के मृतकों के परिजनों ने डीएनए टेस्ट पर संदेह जताया

June 14th, 2020

हाईलाइट

  • पीआईए विमान हादसे के मृतकों के परिजनों ने डीएनए टेस्ट पर संदेह जताया

कराची, 14 जून (आईएएनएस)। पाकिस्तान के कराची में 22 मई को पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआईए) के विमान दुर्घटना में मारे गए 97 लोगों के परिजनों ने सिंध फोरेंसिक डीएनए और कराची विश्वविद्यालय के सिरोलॉजी लैब (एसएफडीएल) में की गई डीएनएन जांच पर संदेह जताया है।

द ट्रिब्यून की रिपोर्ट के मुताबिक, शनिवार को मीडिया को संबोधित करते हुए मृतकों के परिजनों ने इस प्रक्रिया में देरी और हेरफेर करने पर प्रकाश डाला और सरकार से इस मामले को देखने की मांग की।

विमान 22 मई को कराची की घनी आबादी वाली मॉडल कॉलोनी में गिर गया था। कई शवों की पहचान नहीं हो पाई थी।

विमान दुर्घटना में पत्नी और बच्चों को खो देने वाले आरिफ इकबाल ने अधिकारियों पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कहा कि जब वह अपनी पत्नी और अपनी बड़ी बेटी की पहचान करने में सक्षम थे, उनके बेटे और छोटी बेटी की पहचान करने के लिए डीएनए जांच की आवश्यकता थी।

उन्होंने कहा, मैंने अपना डीएनए नमूना उपलब्ध कराया और कुछ घंटों में परिणाम की उम्मीद की, लेकिन पांच दिन बाद भी मेरे पास कुछ नहीं है। उन्होंने कहा कि बार-बार विभिन्न संस्थानों का चक्कर लगाना पड़ा और परेशानियों का सामान करना पड़ा।

हादसे में भाई को खो देने वाले अहमद मुर्तजा ने बताया कि उन्हें एसएफडीएल से कोई रिपोर्ट नहीं मिली है, जबकि पंजाब फोरेंसिक साइंस एजेंसी (पीएफएसए) ने एक दिन के भीतर ऐसा किया था।

उन्होंने कहा, मेरे पिता को बताया गया था कि उनका नमूना किसी भी शव से मेल नहीं खाया। बाद में मुझे पता चला कि जिस शव से नमूने का मिलान हुआ वह दूसरे परिवार को दिया गया था। मुझे अभी तक नहीं पता कि मेरे भाई का शव किसने लिया और उन्होंने उसे कहां दफनाया।

अन्य रिश्तेदारों ने एसएफडीएल पर उन्हें गुमराह करने और गलत जांच परिणाम जारी करने का आरोप लगाते हुए समान दावे किए।