दैनिक भास्कर हिंदी: ईरान ने की 53 अरब बैरल के नये तेल भंडार की खोज, परत की गहराई 80 मीटर

November 10th, 2019

हाईलाइट

  • ईरान ने देश के दक्षिण में 53 अरब बैरल के नये तेल भंडार की खोज की है
  • यह 2,400 वर्ग किलोमीटर के दायरे में बोस्टन से ओमिदियेह तक फैला है
  • तेल की परत की गहराई 80 मीटर (262 फीट) है

डिजिटल डेस्क, तेहरान। ईरान ने देश के दक्षिण में 53 अरब बैरल के नये तेल भंडार की खोज की है। यह 2,400 वर्ग किलोमीटर के दायरे में बोस्टन से ओमिदियेह तक फैला है। तेल की परत की गहराई 80 मीटर (262 फीट) है। नया तेल क्षेत्र ईरान में दूसरा सबसे बड़ा क्षेत्र बन सकता है। बता दें कि ईरान के अहवाज में 65 अरब बैरल का तेल भंडार है।  

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने कहा, 'नया तेल भंडार खुज़ेस्तान के दक्षिण-पश्चिमी प्रांत में खोजा गया जो लगभग 2,400 वर्ग किमी (926 वर्ग मील) क्षेत्र में बोस्टन से ओमिदियेह तक फैला है।' उन्होंने कहा कि 'यदि तेल क्षेत्र से एक्सट्रैक्शन केवल 1% बढ़ जाता है तो ईरान का तेल राजस्व 32 अरब डॉलर बढ़ जाएगा। रूहानी ने कहा, 'मैं व्हाइट हाउस को बता रहा हूं कि जिन दिनों आपने ईरानी तेल की बिक्री पर प्रतिबंध लगाया, देश के श्रमिकों और इंजीनियरों ने 53 अरब बैरल तेल की खोज की है।'

बता दें कि ईरान दुनिया के सबसे बड़े तेल उत्पादकों में से एक है, जिसका हर साल अरबों डॉलर का निर्यात होता है। इसके मौजूदा प्रूवन रिजर्व कुछ 150 बिलियन बैरल के हैं। इसके पास दुनिया का चौथा सबसे बड़ा तेल भंडार और दूसरा सबसे बड़ा गैस भंडार है। अमेरिकी प्रतिबंधों के चलते ईरान का ऊर्जा उद्योग बुरी तरह प्रभावित हुआ है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान और छह विश्व शक्तियों के बीच 2015 के परमाणु समझौते को छोड़ने के बाद पिछले साल ईरान के खिलाफ प्रतिबंध लगा दिए थे।

प्रतिबंधों के कारण ईरान की अर्थव्यवस्था में भारी गिरावट आई है। ईरान की करेंसी का मूल्य में रिकॉर्ड गिरावट देखी गई है। इतना ही नहीं ईरान की वार्षिक मुद्रास्फीति दर चौगुना होने के साथ-साथ विदेशी निवेशकों ने भी इस देश से दूरी बना ली है।