दैनिक भास्कर हिंदी: जिहाद कश्मीर की आजादी का एकमात्र रास्ता : जमाते इस्लामी पाकिस्तान

October 14th, 2019

कराची, 14 अक्टूबर (आईएएनएस)। पाकिस्तान में कश्मीर के नाम पर भड़काने वाले बयानों की ताजा कड़ी में जमाते इस्लामी पाकिस्तान के नेता ने कहा है कि कश्मीर की आजादी का एकमात्र रास्ता जिहाद है।

पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, जमाते इस्लामी पाकिस्तान के प्रमुख व सीनेटर सिराजुल हक ने कराची में कश्मीर मुद्दे पर आयोजित एक सभा में यह विवादास्पद बात कही। उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी कौम कश्मीर को आजाद कराने के लिए तैयार है लेकिन इसकी सरकार सो रही है।

हक ने कहा कि कश्मीर मुद्दे पर विचार के लिए पाकिस्तान की सरकार को संसद का एक संयुक्त सत्र बुलाना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह दुखद है कि इमरान सरकार ने कश्मीर मुद्दे पर विचार के लिए अभी तक विपक्षी नेताओं को आमंत्रित नहीं किया है।

जमाते इस्लामी नेता को इस बात का स्पष्ट अहसास है कि भारत की सरकार कश्मीर में विकास का नया अध्याय शुरू करने जा रही है और यह बात उन्हें परेशान कर रही है। इसी संदर्भ में उन्होंने कहा, भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कश्मीरियों को रोजगार और अरबों रुपये मुहैया कराने का प्रस्ताव दिया है लेकिन यह जंग आर्थिक नहीं है, यह कश्मीरियों की आजादी का संघर्ष है।

हक ने कहा कि अफगानिस्तान में आज नाटो बल प्रतिरोध के बाद शर्तो को मानने के लिए बाध्य हुए हैं और ऐसा ही कश्मीर में होगा जहां से भारतीय बल वापस जाएंगे और कश्मीर आजाद होगा। इसीलिए पाकिस्तान व कश्मीर का युवा कश्मीर पर किसी भी हद तक जाने के लिए तैयार है।

उन्होंने पाकिस्तानी सैन्य प्रमुख से भारतीय बलों व भारतीय सरकार के खिलाफ जिहाद छेड़ने की अपील की। उन्होंने कहा कि हमारे लोग बहादुर हैं और ईश्वर निश्चित ही उनकी मदद करेगा जो जिहाद छेड़ना चाहते हैं।