दरबदर बरादर: मुल्ला बरादर ने काबुल छोड़ा, तालिबान व हक्कानी नेटवर्क के बीच संघर्ष की खबर

September 15th, 2021

हाईलाइट

  • मुल्ला बरादर ने काबुल छोड़ा!
  • हक्कानी नेटवर्क और बरादर में वर्चस्व को लेकर लड़ाई!

डिजिटल डेस्क, अफगानिस्तान। अफगानिस्तान पर तालिबान ने कब्जा करने के बाद अंतरिम सरकार का गठन तो कर लिया, लेकिन स्थाई सरकार को लेकर अभी भी उठापटक जारी है। अब खबर आ रही है कि तालिबान और हक्कानी नेटवर्क के बीच क्रेडिट को लेकर संघर्ष शुरू हो गया है। जिसके बाद मुल्ला अब्दुल गनी बरादर ने काबुल छोड़ दिया है। गौरतलब है कि मुल्ला अब्दुल गनी बरादर तालिबान सरकार में उप प्रधानमंत्री के पद पर नियुक्त है। हाल ही में हक्कानी नेटवर्क और उनके बीच झड़प भी हुई थी। जिसमें बरादर के गोली लगने की खबरें सामने आई थी। 

हक्कानी नेटवर्क और बरादर में वर्चस्व को लेकर लड़ाई

बता दें कि हक्कानी नेटवर्क के नेता खलील उर-रहमान और मुल्ला अब्दुल गनी बरादर के बीच कहासुनी हुई है। इसके बाद दोनों के समर्थक आपस में भिड़ गये हैं। दरअसल, हक्कानी नेटवर्क का मानना है कि उसके आक्रामक रूख और लड़ाकों के कारण ही अफगानिस्तान की सत्ता मिली है। वहीं बरादर का मानना है कि उनकी कूटनीति के कारण ही तालिबान अफगानिस्तान पर कब्जा जमा पाया। ऐसे में दोनों गुट जीत का क्रेडिट लेने के लिए भिड़ गए हैं। 

सरकार में हिस्सेदारी को लेकर छिड़ी जंग

बता दें कि हक्कानी नेटवर्क को तालिबान का खूंखार दल माना जाता है। हक्कानी नेटवर्क अफगानिस्तान की सरकार में प्रमुख भूमिका चाहता है लेकिन तालिबान के नेता इस पर राजी नहीं हैं। इसलिए इसको लेकर दोनों के बीच विवाद खत्म नहीं हो रहा है। बीबीसी के मुताबिक बरादर काबुल छोड़कर कंधार पहुंच गया है। पहले एक प्रवक्ता का बयान आया कि बरादर कंधार सुप्रीम नेता से मिलने गया है। फिर सूचना आ रही है कि बरादर कंधार में ही रूक गया।

खबरें और भी हैं...