comScore

Action: पाक को FATF ने दिया 4 महीने का समय, आतंक के खिलाफ नहीं उठाए ठोस कदम तो होगा ब्लैक लिस्ट

Action: पाक को FATF ने दिया 4 महीने का समय, आतंक के खिलाफ नहीं उठाए ठोस कदम तो होगा ब्लैक लिस्ट

हाईलाइट

  • FATF जून में करेगा समीक्षा
  • पाक को 2018 में डाला गया था ग्रे सूची में

डिजिटल डेस्क, इस्लामाबाद। आतंक के खिलाफ पाकिस्तान के काम से नाखुश फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) ने उसे ग्रे लिस्ट में बरकरार रखा है। FATF ने पाक को चेतावनी दी और 27 सूत्रीय कार्ययोजना पर जून 2020 से पहले अनुपालन करने के लिए कहा। यदि इस अवधी में भी पाकिस्तान आतंकवाद के खिलाफ कोई ठोस कदम नहीं उठाता है तो उसे ब्लैक लिस्ट किया जा सकता है। 

पेरिस के जानकार सूत्रों ने पाकिस्तान के डॉन न्यूज को बताया कि एफएटीएफ के कार्य समूह की कई बैठकों में पाकिस्तान के प्रदर्शन की कार्ययोजना की समीक्षा की गई, जिसके बाद FATF ने पाकिस्तान के ग्रे लिस्ट की अवधि को चार महीने के लिए बढ़ा दिया है। FATF 16 फरवरी से शुरू हुई बैठकों के समापन पर आज आधिकारिक बयान जारी करेगा।
 

FATF जून में करेगा समीक्षा
FATF की अगली बैठक जून में होगी। इसमें पाकिस्तान द्वारा आतंकी वित्तपोषण, मनी लांड्रिंग और आतंकी सरगनाओं के खिलाफ की गई कार्रवाई की गहन समीक्षा की जाएगी। यदि चार महीने में पाकिस्तान एफएटीएफ की मांगों को पूरा नहीं कर पाता है तो उसे ​ब्लैक लिस्ट कर दिया जाएगा।

पाक को 2018 में डाला गया था ग्रे सूची में 
पाकिस्तान को जून 2018 में ग्रे सूची में डाला था। अक्टूबर 2018 और फरवरी 2019 में हुए रिव्यू में भी पाक को राहत नहीं मिली थी। पाक FATF की सिफारिशों पर काम करने में विफल रहा है।

कमेंट करें
utLDl