संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट : सीरिया संघर्ष के दशक में मारे गए 3 लाख से ज्यादा नागरिक

June 29th, 2022

हाईलाइट

  • सीरिया संघर्ष के दशक में मारे गए 3 लाख से ज्यादा नागरिक : संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट

डिजिटल डेस्क, जिनेवा। संयुक्त राष्ट्र (यूएन) के मानवाधिकार कार्यालय ने कहा है कि सीरिया संघर्ष के दौरान 1 मार्च 2011 से 31 मार्च 2021 के बीच 306,887 नागरिकों की जान गई थी।

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद द्वारा पेश की गई एक रिपोर्ट में कार्यालय ने पहले 143,350 नागरिकों की मौत होने की पुष्टि की। रिपोर्ट में उनका पूरा नाम, तिथि और मृत्यु का स्थान शामिल है।

इसके अलावा, अन्य रिपोर्ट में सांख्यिकीय अनुमान तकनीकों का उपयोग करके 163,537 नागरिक मौतों का अनुमान लगाया गया, जिससे नागरिकों की मौतों का आंकड़ा 306,887 हो गया।

रिपोर्ट में कहा गया है कि 306,887 के अनुमान का मतलब है कि पिछले 10 वर्षो में औसतन हर एक दिन संघर्ष के कारण 83 नागरिकों की हिंसक मौत हुई है।

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बाचेलेट ने कहा, मैं स्पष्ट कर दूं कि ये वे लोग हैं, जो सीधे तौर पर युद्ध अभियानों के चलते मारे गए। इनमें स्वास्थ्य देखभाल, भोजन, स्वच्छ पानी और अन्य आवश्यक मानवाधिकारों तक पहुंच न होने के कारण जान गंवाने वाले कई अन्य नागरिक शामिल नहीं हैं।

मार्च 2011 को सीरिया संघर्ष विभिन्न हिस्सों में लोकतांत्रिक सुधारों की मांग को लेकर भड़के सरकार विरोधी प्रदर्शनों के साथ शुरू हुआ था। इन प्रदर्शनों के चलते दशकों से हुकूमत कर रहे कुछ अरब नेताओं को सत्ता भी गंवानी पड़ी थी।

पिछले कुछ सालों में सीरियाई सरकार और विपक्ष के प्रतिनिधिमंडलों ने जिनेवा में कई दौर की शांति वार्ता की, लेकिन अभी तक कोई समाधान नहीं निकल पाया है।

 

आईएएनएस

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.