दैनिक भास्कर हिंदी: भारत-पाकिस्तान के बीच तनाव से टीएपीआई परियोजना नहीं होगी प्रभावित

September 16th, 2019

हाईलाइट

  • तुर्कमेनिस्तान-अफगानिस्तान-पाकिस्तान-भारत व अन्य अपतटीय गैस पाइपलाइन परियोजनाओं पर प्रभाव नहीं पड़ेगा

डिजिटल डेस्क, इस्लामाबाद। पाकिस्तान सरकार के एक अधिकारी ने कहा कि कश्मीर मुद्दे को लेकर नई दिल्ली व इस्लामाबाद के बीच जारी तनाव से तुर्कमेनिस्तान-अफगानिस्तान-पाकिस्तान-भारत (टीएपीआई) व अन्य अपतटीय गैस पाइपलाइन परियोजनाओं पर प्रभाव नहीं पड़ेगा।

अधिकारी ने कहा, पाकिस्तान ने तुर्कमेनिस्तान को भरोसा दिया है कि भारत के साथ बढ़ते तनाव का मेगा परियोजना पर कोई असर नहीं होगा। उन्होंने कहा, कश्मीर को लेकर पाकिस्तान व भारत में तनाव है। हालांकि, इसका टीएपीआई पाइपलाइन परियोजना पर असर नहीं होगा।

इंटरस्टेट गैस सिस्टम (आईएसजीएस ) कुछ बड़ी पाइपलाइन परियोजनाओं पर काम कर रही है। इसमें टीएपीआई, नॉर्थ-साउथ पाइपलाइन व अपतटीय गैस पाइपलाइन शामिल है। इसके अतिरिक्त कंपनी की अंडरग्राउंड गैस स्टोरेज बनाने की योजना है।

टीएपीआई, मध्य व दक्षिण एशिया के बीच संपर्क स्थापित करेगी। यह एक शांति पाइपलाइन परियोजना है। यह युद्धग्रस्त अफगानिस्तान व पाकिस्तान से होकर भारत आएगी, जिससे आर्थिक गतिविधि बढ़ोगी और क्षेत्र में शांति व स्थिरता सुनिश्चित होगी। परियोजना सड़क, रेल व फाइबर केबल नेटवर्क के जरिए दो क्षेत्रों को जोड़ने में मदद करेगी।

अधिकारी ने कहा कि इसका निर्माण कार्य पहले ही तुर्कमेनिस्तान में शुरू हो चुका है और इसके हेरात खंड के तुर्कमेन-अफगान सीमा पर जल्द ही शुरू होने की उम्मीद है। अधिकारी ने कहा कि पाकिस्तान में निर्माण गतिविधियों के 2020 के पहले तिमाही में शुरू होने की उम्मीद है।