दैनिक भास्कर हिंदी: सीरिया में रूस के फाइटर जेट सुखोई-25 पर हमला, पायलट की मौत

September 25th, 2018

डिजिटल डेस्क, अम्मान। सीरिया में विद्रोहियों के नियंत्रण वाले पूर्वोत्तर प्रांत इदलिब में रूस के एक जंगी विमान को निशाना बनाया है। रूसी रक्षा मंत्रालय का कहना है कि हमला होते ही पायलट विमान से कूद गया था, लेकिन जमीन पर हुई लड़ाई में मारा गया। बता दें कि रूस इस इलाके में अपने सहयोगी सीरिया के साथ विद्रोहियों पर हमला कर रहा है। सीरिया की सरकार ने पिछले साल दिसंबर में रूस के जंगी विमानों की मदद से विद्रोहियों के खिलाफ बड़े पैमाने पर कार्रवाई शुरू की थी।

24 घंटे में रूस ने कई हवाई हमले किए

निगरानी समूह सीरियन ऑब्ज़रवेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स का कहना है कि इलाके में बीते 24 घंटे में रूस ने कई हवाई हमले किए हैं। सीरिया में अलकायदा की पूर्व शाखा से जुड़े एक जिहादी गुट तहरीर अल-शम ने रूसी लड़ाकू विमान सुखोई-25 को नष्ट करने की जिम्मेदारी ली है। तहरीर अल-शम ने अपने एक कमांडर के बयान का हवाला देते हुए आज सोशल मीडिया पर एक बयान जारी कर इस हमले की जिम्मेदारी ली। इससे पहले सीरिया के इदलिब प्रांत में शनिवार को एक मिसाइल हमले में रूसी लड़ाकू विमान सुखोई-25 नष्ट हो गया है।

'मेनपेड पोटेर्बल  मिसाइल' से हुआ हमला

रूसी रक्षा मंत्रालय के मुताबिक इस लड़ाकू विमान को सतह से हवा में मार करने में सक्षम 'मेनपेड पोटेर्बल  मिसाइल' से लक्ष्य बनाया गया। मंत्रालय ने बताया कि रूस और तुर्की इस क्षेत्र में युद्ध की तीव्रता में कमी लाने के प्रयास कर रहे हैं और पायलट का शव लाने के लिए बातचीत की जा रही है। गौरतलब है कि तहरीर अल-शम को पहले नुसरा फ्रंट के रूप में जाना जाता था, जो अलकायदा की सीरियाई शाखा के रूप में काम करता था।

एक लाख लोग हुए विस्थापित

सोशल मीडिया पर कुछ वीडियो पोस्ट किए गए हैं, इनमें से एक वीडियो में जंगी विमान को निशाना बनाते हुए दिखाया गया है, जबकि दूसरे वीडियो में जमीन पर विमान का सुलगता हुआ मलबा दिखाया गया है। विमान के एक पंख पर रेड स्टार भी नज़र आ रहा है। संयुक्त राष्ट्र का कहना है कि यहां लड़ाई की वजह से लगभग एक लाख लोग विस्थापित हुए हैं।