दैनिक भास्कर हिंदी: यमन बॉर्डर के पास हेलिकॉप्टर क्रैश में सऊदी अरब के प्रिंस की मौत

September 4th, 2018

डिजिटल डेस्क, यमन। सऊदी अरब के प्रिंस मंसूर बिन मुकरिन की हेलिकॉप्टर क्रैश में मौत हो गई है। ये हादसा यमन बॉर्ड के पास हुआ, जिसमें उनकी मौत हो गई। अभी तक हेलिकॉप्टर क्रैश की वजह सामने नहीं आई है। बताया जा रहा है कि हेलिकॉप्टर में प्रिंस मंसूर के साथ जितने लोग थे, उन सभी की मौत इस हादसे में हो गई है। 

डिप्टी गवर्नर थे प्रिंस मंसूर

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, प्रिंस मंसूर बिन मुकरिन असीर प्रांत के डिप्टी गवर्नर थे और सऊदी अरब के पूर्व क्राउन प्रिंस मुकरिन अल सऊद के बेटे थे। हालांकि अभी तक साफ नहीं हो पाया है कि हेलिकॉप्टर किस वजह से क्रैश हुआ। ये हादसा साउथ सऊदी अरब के आभा शहर के पास हुआ है। हेलिकॉप्टर में प्रिंस के साथ मौजूद किसी की भी जान नहीं बच पाई है। 

सत्ता से कर दिया था बेदखल

साल 2015 में किंग सलमान ने सत्ता संभालते ही प्रिंस मुकरिन के पिता मुकरिन बिन अब्दुल अजीज को बेदखल कर दिया था। प्रिंस मंसूर के पिता और किंग सलमान के बीच भाई का रिश्ता था और दोनों सौतेले भाई थे। 

एक दिन पहले ही 11 प्रिंस हुए हैं गिरफ्तार

सऊदी अरब में ये हादसा उस वक्त हुआ है, जब एक दिन पहले ही करप्शन के आरोप में सऊदी के 11 प्रिंस को गिरफ्तार किया गया है। 11 प्रिंस को हिरासत में लेने के साथ-साथ 4 मिनिस्टर और दर्जन भर फॉर्मर मिनिस्टर्स को भी गिरफ्तार कर पूछताछ की जा रही है। किंग सलमान के नेतृत्व में बनाई गई एंटी करप्शन कमेटी ने ये भी फैसला लिया है कि 2009 में आई जेद्दा बाढ़ और 2012 में फैले मिडल ईस्ट रेस्पिरेट्री सिंट्रोल यानि मर्स वायरस के फैलने के मामलों की भी पुन: जांच शुरु की जाएगी। 

क्राउन प्रिंस ने उठाया जिम्मा

सऊदी में भ्रष्टाचार को खत्म करने का बीड़ा खुद सऊदी के क्राउन प्रिंस  मोहम्मद बिन सलमान ने उठाया है। सलमान करप्शन के मुद्दे पर काफी सख्त हैं। सलमान एंटी करप्शन कमेटी के अध्यक्ष भी हैं और वो किसी के भी खिलाफ अरेस्ट वारंट जारी करने और ट्रैवलिंग पर बैन लगाने का अधिकार भी रखते हैं। उनके दिए शाही आदेश में उन्होनें कहा कि इस कमेटी के गठन का मुख्य उद्देश्य है जनता के फायदों  को तरहीज देना और जो भी जनता से पहले खुद को महत्व देता है उनके गलत कामों को देखकर एक्शन लेना।