दैनिक भास्कर हिंदी: 21 साल के इस शख्स को वॉट्सएप पर मैसेज करने के लिए मिली सजा-ए-मौत

May 6th, 2019

हाईलाइट

  • Whatsapp पर मैसेज करने पर मिली सजा-ए-मौत
  • अब्दुल करीम अल हवाज ने सरकार विरोधी प्रदर्शन के बारे में एक मैसेज वाट्सएप पर भेजा था
  • सऊदी सरकार ने सुनाया मौत की सजा का फरमान

डिजिटल डेस्क,सऊदी अरब। सोशल मीडिया के दौर में तेजी से अफवाहें फैलाई जाती है। फिर चाहे आतंकी गतिविधि की बात या किसी तरह के अश्लील संदेश भेजना। ऐसे कई मामलों पर पुलिस सख्त कार्रवाई भी करती हैं, लेकिन ऐसा शायद पहले अपने सुना होगा की किसी शख्स को व्हाट्सएप पर मैसेज भेजने पर मौत की सजा का फरमान सुनाया गया हो। जी हां सऊदी अरब में 21 साल के एक युवा को मौत की सजा सुनाई गई। 21 साल के शख्स को 'आतंकवाद' के आरोप में सिर कलम करके मौत के घाट उतार दिया गया। मानवाधिकार संगठनों ने फैसले की निंदा की है।  

मामला सऊदी अरब का है। खबरों के मुताबिक अब्दुल करीम अल हवाज ने सरकार विरोधी प्रदर्शन के बारे में एक मैसेज वाट्सएप पर भेजा था और इसी कारण उसे गिरफ्तार कर लिया गया था। गिरफ्तारी के वक्त अब्दुल की उम्र 16 साल थी। पुलिस ने जब उसे टॉर्चर किया तो उसने अपने अपराध कबूल कर लिए। इस घटना में पुलिस पर आरोप लगाया गया है कि शख्स पर दबाव डालकर आरोप कबूल करवाया गया है, गुनाह नहीं कबूलने पर उसके परिवार वालों को मारने की धमकी दी गई थी। एमनेस्टी इंटरनेशनल ने उसके ट्रायल को बेकार बताते हुए आरोप लगाया है कि अब्दुल को उचित कानूनी मदद नहीं दी गई थी।बता दें कि कुछ दिन पहले सऊदी अरब में करीब 37 लोगों को मौत की सजा दी गई, इसी में से अब्दुल नाम का एक शख्स भी शामिल था। इस साल सऊदी अरब में एब तक 105 लोगों को मौत की सजा दी जा चुकी है।