दैनिक भास्कर हिंदी: संयुक्त राष्ट्र संघ में गूंजा 'कठुआ गैंगरेप', महासचिव ने की कड़ी निंदा

April 15th, 2018

डिजिटल डेस्क, वाशिंगटन। जम्मू-कश्मीर के कठुआ में हुए 8 साल की बच्ची के साथ गैंगरेप का मामला अब संयुक्त राष्ट्र संघ में भी गूंजने लगा है। इस मामले की चर्चा अब इंटरनेशनल स्तर पर भी होने लगी है। संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने भी इस मामले पर बात करते हुए इसकी कड़ी निंदा की है। महासचिव ने प्रेस वार्ता में बात करते हुए उम्मीद जताई है कि इस मामले में भारतीय प्रशासन न्याय ज़रूर सुनिश्चित करवाएगा।

जब संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेश पत्रकारों से बात कर रहे थे, इसी दौरान एक पत्रकार ने गुटरेश से इस मामले में अपनी प्रतिक्रिया जानना चाहा। इस पर संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने 8 वर्षीय बच्ची से रेप और हत्या की घटना को 'डरावना' बताया है। उन्होंने कहा कि मुझे उम्मीद है कि इस मामले में मृतक पीड़िता को और उसके परिजनों को न्याय जरूर मिलेगा।

पत्रकारों से बात करते हुए गुटेरेश के प्रवक्ता स्टीफन डुजारिक ने कहा कि मुझे लगता है कि हम इस बच्ची के उत्पीड़न और हत्या की डरावनी घटना की मीडिया रिपोर्ट देख चुके हैं। हम ये उम्मीद जताते हैं कि प्रशासन इन अपराधियों को उनके अंजाम तक पहुंचाए, ताकि उन्हें इस बच्ची की हत्या के लिए जवाबदेह ठहराया जा सके।

मामले पर संज्ञान लेते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने शनिवार को अपना बयान दिया। पीएम मोदी ने इस घटना को शर्मनाक बताया। पीएम ने कहा मैं यह भरोसा दिलाना चाहता हूं कि किसी अपराधी को बख़्शा नहीं जाएगा और हमारी बेटियों को न्याय मिलेगा।

गौरतलब है कि 10 जनवरी को अपने घर के पास से लापता 8 वर्षीय मासूम आसिफा को 8 दरिंदों ने अपनी हवस का शिकार बनाया था। आरोप है कि गांव के ही एक हिंदू धर्मस्थल पर 6 लोगों ने बच्ची को बंधक बनाकर रखा और उससे रेप भी किया। इस मामले में पुलिस ने 8 लोगों को आरोपी बनाया है, जबकि 6 लोगों पर गैंगरेप का आरोप है। बकरवाल मुस्लिम समुदाय से ताल्लुक़ रखने वाली आठ वर्षीय बच्ची लापता होने के एक हफ़्ते बाद पास के ही जंगल से मृत पाई गई थी। पुलिस और मेडिकल जांच में साफ किया है कि बच्ची को नशीली दवाइयां दी गईं थी।