दैनिक भास्कर हिंदी: आज खत्म हो सकता है 'अन्ना हजारे का आंदोलन'

March 27th, 2018

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। महाराष्ट्र के सिंचाई मंत्री गिरीश महाजन ने दावा किया है कि अन्ना हजारे मंगलवार शाम तक अपना आंदोलन समाप्त कर देंगे। उन्होंने कहा कि सरकार किसानों से संबंधित अन्ना की अधिकतर मांगों को पूरा करने के बारे में सकारात्मक फैसला ले रही है। बता दें कि राज्यमंत्री महाजन केन्द्र की मोदी सरकार की ओर से अन्ना हजारे से बातचीत के लिए मध्यस्थता कर रहे है।

सोमवार को राज्यमंत्री महाजन ने सुबह केन्द्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से मुलाकात की। इसके बाद महाजन करीब 3 बजे अन्ना से मिलने रामलीला पहुंचे। जहां करीब 1 घंटे तक चर्चा करने के बाद महाजन ने मीडिया से बातचीत में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि अन्ना की 11 मांगे हैं, जिनमें से ज्यादातर पर सरकार सकारात्मक रुप से विचार कर रही है। किसानों से संबंधित मांगों पर कृषि मंत्री से चर्चा होगी। इसके बाद अन्ना अपना आंदोलन समाप्त कर देंगे।

ये भी पढ़ें : लिपिस्टिक वाला 'गे बाबा', फेसबुक-वॉट्सअप से बुलाकर करता था गंदा काम

अन्ना के करीबी दत्ता आवारे का कहना है कि अन्ना और राज्यमंत्री महाजन के बीच किसानों की मांगों के संबंध में सकारात्मक चर्चा हुई है। यदि सरकार की ओर से मांगों को मंजूर करने बाबत लिखित में आश्वासन दिया गया तो अन्ना अपना आंदोलन पीछे ले सकते है। आवारे के मुताबिक गिरीश महाजन आज देर रात फिर अन्ना से मुलाकात करने वाले है। मंगलवार को केन्द्र सरकार की ओर से एक मंत्री अन्ना को मिलने आंदोलन स्थल आने वाले है। संभावना है कि कृषि मंत्री अन्ना से बातचीत करने आ सकते है। उनसे चर्चा के बाद ही आंदोलन पीछे लेने के बारे में अन्ना निर्णय ले सकते है।

गौरतलब है कि अन्ना 23 मार्च से जनलोकपाल, लोकायुक्त की नियुक्ति सहित किसानों को फसल की लागत पर 50 प्रतिशत मुनाफे का वादा पूरा करने के अलावा स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें मंजूर किए जाने की मांगों को लेकर अनशन पर बैठे है। उल्लेखनीय है कि अन्ना के आंदोलन को इस बार किसानों को छोड समाज के दूसरे वर्ग का खासा समर्थन नही दिख रहा है। दूसरी बात प्रधानमंत्री मोदी ने रविवार को मन की बात कार्यक्रम में कहा है कि किसानों को इसी साल से अधिसूचित फसलों के लिए लागत का डेढ़ गुना एमएसपी दिया जाएगा। अन्ना के आंदोलन की प्रमुख मांगों में से एक मांग वैसे ही पूरी हो रही है।