comScore

राहुल को विदेशी मां का बेटा बताने वाले बसपा नेता की सभी पदों से छुट्टी

July 17th, 2018 16:13 IST

हाईलाइट

  • राहुल गांधी को विदेशी मां का बेटा बताने वाले नेता जय प्रकाश सिंह को बसपा ने दिखाया पार्टी से बाहर का रास्ता
  • जय प्रकाश ने लखनऊ में बसपा कोऑरर्डिनेटर्स की बैठक में कहा था कि राहुल गांधी कभी प्रधानमंत्री नहीं बन सकते
  • बसपा नेता जयप्रकाश ने कहा था कि भारत का प्रधानमंत्री 'पेट' से नहीं 'पेटी' (बैलेट बॉक्स) से निकलेगा

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। राहुल गांधी को विदेशी मां का बेटा और प्रधानमंत्री पद की रेस से बाहर बताने वाले नेता जय प्रकाश सिंह को बसपा ने सभी पदों से हटा दिया है। जय प्रकाश बसपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पार्टी के राष्ट्रीय कोऑर्डिनेटर थे। जय प्रकाश पर कार्रवाई करते हुए मायावती ने कहा कि मुझे जय प्रकाश सिंह के भाषण के बारे में पता चला, जिसमें उन्होंने पार्टी की विचारधारा के खिलाफ बयान दिया है। दूसरे दलों के नेतृत्व के खिलाफ उन्होंने व्यक्तिगत टिप्पणी की है। यह उनकी निजी राय है, जिससे पार्टी सहमत नहीं है। उन्हें सभी पदों से तत्काल हटाया जाता है। जय प्रकाश ने सोमवार को लखनऊ में बसपा कोऑरर्डिनेटर्स की बैठक में कहा था कि राहुल गांधी कभी प्रधानमंत्री नहीं बन सकते, इसका कारण उनका अपने पिता से ज्यादा विदेशी मूल की मां की तरह दिखना है।

Related image

'पेटी' से निकलेगा प्रधानमंत्री
बसपा नेता जयप्रकाश ने कहा था कि भारत का प्रधानमंत्री 'पेट' से नहीं 'पेटी' (बैलेट बॉक्स) से निकलेगा। उन्होंने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी को सिर्फ मायावती ही टक्कर दे सकती हैं, इसलिए उन्हें चुनाव लड़ना चाहिए।

Image result for rahul gandhi with his mother

इन सीटों से चुनाव लड़ेंगी मायावती?
बसपा सुप्रीमो मायावती 2019 का लोकसभा चुनाव लड़ सकती हैं। पार्टी को ऑर्डिनेटर वीर सिंह ने बताया कि यूपी में अंबेडकरनगर या बिजनौर लोकसभा सीट उनकी हो सकती है। बीएसपी 2019 के लोकसभा चुनाव में मायावती को देशभर में दलितों की नेता के रूप में उभरते हुए देखना चाहती है। बसपा चाहती है कि पार्टी सुप्रीमो प्रधानमंत्री की रेस में हों। पार्टी का कहना है कि कर्नाटक चुनाव के बाद मायावती दमदार नेता के रूप में सामने आई हैं।

Image result for सोनिया गांधी और मायावती


फैसला गठबंधन पर निर्भर
बीएसपी के मुताबिक सपा और बसपा का गठबंधन होने पर मायावती अपने पुराने क्षेत्र बिजनौर की सुरक्षित सीट नगीना या फिर अंबेडकरनगर से लोकसभा चुनाव लड़ सकती हैं। हालांकि, सूत्रों के मुताबिक दोनों दलों के बीच गठबंधन होने पर ही यह सब निर्भर करेगा। बीएसपी उन राज्यों में गठबंधन के पक्ष में है, जहां कांग्रेस मजबूत है।

बिजनौर से सांसद रह चुकी हैं मायावती
मायावती 1989 में बिजनौर से चुनाव लड़ने के बाद जीतकर संसद पहुंच चुकी हैं। यह बसपा की पारंपरिक सीट मानी जाती है। दलित-मुस्लिम गठजोड़ से मायावती ने ये सीट हासिल की थी। इसी तरह वे अंबेडकर नगर से भी चुनाव जीत चुकी हैं। 

Image result for mayawati
 

ये तो शुरुआत है: पात्रा
इस मामले पर भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने ट्वीट कर कहा है कि महागठबंधन का निर्माण होने से पहले ही ये स्थिति है। बीएसपी ने साफ कर दिया है, चूंकि राहुल गांधी पिता से अधिक मां जैसे दिखते हैं और सोनियाजी विदेशी मूल की हैं, इसलिए वे कभी पीएम उम्मीदवार नहीं हो सकते हैं। ये तो शुरुआत है, आगे-आगे देखिए क्या होता है।

कमेंट करें
FXdmV