comScore

थरूर का पीएम मोदी को पत्र,लिखा- 'कहीं मन की बात', 'मौन की बात' न हो जाए

थरूर का पीएम मोदी को पत्र,लिखा- 'कहीं मन की बात', 'मौन की बात' न हो जाए

हाईलाइट

  • शशि थरूर ने लिखा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र
  • 49 हस्तियों के खिलाफ हुई एफआईआर पर चिंता जताई
  • कहा- नागरिकों की 'मन की बात', 'मौन की बात' न हो जाए

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कांग्रेस के दिग्गज नेता शशि थरूर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है। लेटर में थरूर ने 49 हस्तियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने पर चिंता व्यक्त की है। कांग्रेस नेता ने ट्विटर पर लेटर को शेयर किया है। 

शशि थरूर ने पीएम मोदी के एक पुराने भाषण का हवाला देते हुए कहा है कि, आपने साल 2016 में यूएस कांग्रेस को संबोधित किया था। संबोधन में आपने भारत के संविधान को पवित्र किताब बताया था। आपने (पीएम मोदी) कहा था कि भारत का संविधान यहां रहने वाले सभी नागरिकों को स्वतंत्रता, भाषा और समानता का अधिकार देता है। 

कांग्रेस नेता ने लिखा है कि एक भारतीय नागरिक के रूप में हम आशा करतें हैं कि हर कोई बिना डरे राष्ट्रीय महत्व के मुद्दों पर अपनी बात रख सकें। ताकि आप तक बातें पहुंचे और उसपर कोई फैसला ले सकें। हमें उम्मीद है कि आप अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के अधिकार का समर्थन करेंगे। ताकि भारत के नागरिकों की 'मन की बात', 'मौन की बात' न हो जाए। 

बता दें इस साल 23 जुलाई को कला, साहित्य और अन्य बड़ी हस्तियों ने पीएम मोदी को एक पत्र लिखा था। पत्र में देश में हो रही लिंचिंग की घटनाओं पर चिंता व्यक्त की थी। प्रधानमंत्री को खुला पत्र लिळने वाले रामचंद्र गुहा, मणिरत्नम और अपर्णा सेन समेत करीब 40 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई। वकील सुधीर कुमार ओझा ने की दायर याचिका पर सीजेएम सूर्यकांत तिवारी के आदेश के बाद एफआईआर दर्ज हुई थी। ओझा ने आरोप लगाया था कि इन हस्तियों ने भारत और पीएम की छवि को धूमिल किया है। 


 

कमेंट करें
EgcRx