दैनिक भास्कर हिंदी: संपत्ति विवाद: यूपी में पुलिस पर हमला करने के आरोप में सात महिलाओं समेत 10 गिरफ्तार

April 13th, 2020

हाईलाइट

  • यूपी : पुलिस पर 7 महिलाओं समेत 10 ने किया हमला, सभी गिरफ्तार

डिजिटल डेस्क, प्रयागराज। उत्तर प्रदेश में प्रयागराज जिले के एक गांव में संपत्ति विवाद को लेकर एक पुलिस दल पर हमला करने के आरोप में सात महिलाओं और तीन अन्य लोगों को गिरफ्तार किया गया है। बीकापुर गांव में शनिवार देर रात हुई इस घटना के दौरान महिलाओं ने कथित रूप से एक कांस्टेबल का गला घोंटने की कोशिश की।

सराय इनायत के इंस्पेक्टर एस.के.पांडेय ने कहा, पुलिस रिस्पांस व्हीकल (पीआरवी) पर तैनात तीन पुलिसकर्मियों की एक टीम को जानकारी मिली कि दो परिवारों की महिलाएं एक संपत्ति विवाद पर लड़ रही हैं। उन्हें बताया गया था कि महिलाएं एक-दूसरे पर ईंट फेंक रही थीं इसलिए मामले को संभालने के लिए वे तत्काल वहां पहुंचे।

COVID-19: ग्रेटर नोएडा में क्वारंटाइन किया गया युवक 7वीं मंजिल से कूदा, मौत

पुलिसकर्मियों ने महिलाओं को शांत करने की कोशिश की। तभी दो आरोपियों दीपक और भोला यादव ने महिलाओं को उकसाया, जिन्होंने पुलिस टीम पर ईंट और पत्थरों से हमला कर दिया। हमले में एक कांस्टेबल ज्ञान प्रकाश यादव घायल हो गए। कथित रूप से अनियंत्रित भीड़ ने इस कांस्टेबल को पकड़ लिया और उसका गला घोंटने की कोशिश की।

चांदनी महल से निकाले गए जमातियों में 52 कोरोना पॉजिटिव, अब इलाका होगा सील

अन्य ग्रामीणों द्वारा इस बात की सूचना दिए जाने के बाद, चार पुलिस स्टेशनों सराय इनायत, फूलपुर, बहरिया और थरवई से बल मौके पर पहुंचे और उन्होंने पुलिसकर्मियों को बचाया। घायल कांस्टेबल को इलाज के लिए हनुमानगंज के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घायल कांस्टेबल की शिकायत के आधार पर, रविवार को 10 नामजद और पांच अन्य के खिलाफ सराय इनायत पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया था।

यूपी: 1100 किमी की यात्रा कर मां के अंतिम संस्कार में पहुंचा जवान, ट्रक, मालगाड़ी, नाव का लिया सहारा

आरोपियों पर भारतीय दंड संहिता की धारा 147 (दंगा करने का दोषी), 148 (दंगाई, घातक हथियारों से लैस), 323 (स्वेच्छा से चोट पहुंचाने वाले), 504 (आपराधिक धमकी), 326 (भयंकर चोट पहुंचाने वाले), 353 (एक लोक सेवक पर हमला), 342 (गलत कारावास), 307 (मारने का प्रयास), 332 (किसी भी व्यक्ति को सार्वजनिक सेवक होने के कारण आहत करना) और 188 (नियमों का उल्लंघन) और आपराधिक संशोधन अधिनियम की धारा 7 के तहत आरोप लगाए गए हैं।आरोपियों की पहचान पूजा यादव, नीलम यादव, रिंकू यादव, सुनीता यादव, पूनम यादव, प्रभाती, कमलेश देवी और दीपक यादव और संजय यादव के रूप में हुई है, जो कि सभी बीकापुर के रहने वाले थे।

 

खबरें और भी हैं...