comScore

Rajasthan: सांसद बेनीवाल का गंभीर आरोप, बोले- गहलोत सरकार को बचाने के लिए विधायकों को फोन कर रहीं वसुंधरा राजे

Rajasthan: सांसद बेनीवाल का गंभीर आरोप, बोले- गहलोत सरकार को बचाने के लिए विधायकों को फोन कर रहीं वसुंधरा राजे

हाईलाइट

  • राजस्थान की राजनीति में इन दिनों उथल-पुथल मची हुई है
  • हुनमान बेनीवाल ने वसुंधरा राजे पर बेहद गंभीर आरोप लगाया
  • गहलोत सरकार को बचाने के लिए विधायकों को फोन कर रहीं वसुंधरा राजे

डिजिटल डेस्क, जयपुर। राजस्थान की राजनीति में इन दिनों उथल-पुथल मची हुई है। इस बीच राज्य में भाजपा के सहयोगी दल राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (रालोपा) के सांसद हुनमान बेनीवाल ने बीजेपी की दिग्गज नेता और प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पर बेहद गंभीर आरोप लगाया है। बेनीवाल ने कहा कि राजस्थान की मौजूदा कांग्रेस सरकार को बचाने के लिए सुंधरा राजे विधायकों को फोन कर रही हैं। सियासी जानकार बताते हैं कि बेनीवाल अमित शाह के करीबी हैं। वहीं, उन्हें वसुंधरा राजे का विरोधी माना जाता हैं। बेनीवाल अभी राजस्थान के नागौर सीट से सांसद हैं।

क्या कहा हनुमान बेनीवाल ने?
बेनीवाल ने एक के बाद एक तीन ट्वीट किए। बेनीवाल ने अपने ट्वीट में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और गृहमंत्री अमित शाह को भी टैग किया है।  उन्होंने लिखा, पूर्व सीएम वसुंधरा राजे ने राजस्थान कांग्रेस में उनके करीबी विधायको से दूरभाष पर बात करके उन्हें अशोख गहलोत का साथ देने की बात कही। सीकर व नागौर जिले के एक एक जाट विधायको को राजे ने खुद इस मामले में बात करके सचिन पायलट से दूरी बनाने को कहा जिसके पुख्ता प्रमाण हमारे पास है ! दूसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा, पूर्व सीएम वसुन्धरा राजे अशोक गहलोत की अल्पमत वाली सरकार को बचाने का पुरजोर प्रयास कर रही है, राजे द्वारा कोंग्रेस के कई विधायको को इस बारे में फोन भी किए गए ! वहीं तीसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा, प्रदेश व देश की जनता वसुंधरा-गहलोत के आंतरिक गठजोड़ की कहानी को समझ चुकी है !

राजस्थान में सियासी उठापटक का सातवां दिन
बता दें कि  राजस्थान में सियासी उठापटक का आज गुरुवार को सातवां दिन है। सचिन पायलट को कांग्रेस उनके बगावती तेवर के बाद डिप्टी सीएम और पीसीसी चीफ के पद से बर्खास्त कर चुकी। हालांकि, उन्हें पार्टी में वापसी के लिए कांग्रेस के नेता बयान दे रहे हैं। कह रहे हैं कि उनके लिए दरवाजे अभी भी खुले हैं। वहीं विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी ने कांग्रेस के बागी विधायकों को नोटिस भेजे हैं। इस मामले में सचिन पायलट गुट के लोगों ने कोर्ट में याचिका दायर कर स्पीकर की ओर से भेजे गए नोटिस पर सवाल उठाए हैं। गुरुवार को हाईकोर्ट में दो बार इस मामले की सुनवाई हुई। पहले सिंगल बेंच ने मामला सुना और फिर पायलट खेमे ने दोबारा संशोधित याचिका पेश की। इसके बाद मामला डबल बेंच को भेज दिया गया। अब इस मामले की सुनवाई कल होगी।

Capture

कमेंट करें
ExR9W