comScore

भड़काऊ बयान: JNU के छात्र और शाहीन बाग धरने के मास्टर माइंड शरजिल इमाम ने दिया देश तोड़ने वाला बयान, FIR दर्ज

भड़काऊ बयान: JNU के छात्र और शाहीन बाग धरने के मास्टर माइंड शरजिल इमाम ने दिया देश तोड़ने वाला बयान, FIR दर्ज

हाईलाइट

  • असम को अलग कर देंगे-बयान को लेकर शरजिल पर मामला दर्ज

डिजिटल डेस्क नई दिल्ली। असम को भारत से अलग कर देंगे -जैसा भड़काऊ बयान देने वाले जेएनयू के छात्र शरजिल इमाम के खिलाफ असम में मामला दर्ज हुआ है। असम सरकार के निर्देश पर गुवाहाटी क्राइम ब्रांच पुलिस स्टेशन ने शरजिल इमाम पर केस दर्ज कर आगे की कार्रवाई शुरू की है।

लटकी गिरफ्तारी की तलवार
मामला दर्ज होने के बाद अब शरजिल इमाम पर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है। उधर, दिल्ली में भी भाजपा नेता विवेक गर्ग ने पुलिस कमिश्नर से शिकायत कर देश के खिलाफ बयान देने के मामले में आरोपी की गिरफ्तारी की मांग की है। सीएए और एनआरसी के खिलाफ यहां के शाहीनबाग में लगभग 40 दिनों से चल रहे प्रदर्शन के प्रमुख आयोजकों में शरजिल इमाम को भी शुमार बताया जाता है।

असम को काटना हमारी जिम्मेदारी है- शरजिल
हाल में सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुए एक वीडियो में शरजिल इमाम कथित तौर पर असम को भारत से अलग करने की बात करते सुनाई देते हैं। कथित वीडियो में शरजिल कहते हैं, हमारे पास लोग हों तो हम असम से हिंदुस्तान को हमेशा के लिए अलग कर सकते हैं। असम को काटना हमारी जिम्मेदारी है।

वीडियो वायरल होने के बाद मच गया हंगामा
यह वीडियो वायरल होने के बाद हंगामा मच गया। असम सरकार में मंत्री हेमंत बिस्व शर्मा ने शनिवार को ट्वीट कर मामले को संज्ञान में होने की बात कही और कहा कि सरकार कार्रवाई करेगी। शर्मा के बयान के बाद असम पुलिस ने भड़काऊ बयान देने के मामले में शरजिल इमाम के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुलिस ने विधि-विरुद्ध क्रियाकलाप (निवारण) कानून सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया है।

गिरफ्तारी की मांग
भाजपा नेता और वकील विवेक गर्ग ने शनिवार को पुलिस कमिश्नर से शरजिल इमाम की शिकायत कर गिरफ्तारी की मांग की है। आईएएनएस से विवेक गर्ग ने कहा, हमने राष्ट्रीय सुरक्षा कानून सहित संबंधित धाराओं में केस दर्ज करने की मांग कमिश्नर से की है। शाहीनबाग में टुकड़े-टुकड़े गैंग का पार्ट-2 चल रहा है। देश को तोड़ने के लिए सुनियोजित साजिश के तहत शाहीनबाग में प्रदर्शन चल रहा है। पुलिस को इस प्रदर्शन के पीछे की फंडिंग की भी जांच करनी चाहिए।

कमेंट करें
MjxX8