comScore

17 वर्षीय युवक का अपहरण, अब तक नहीं मिली कोई सुराग

17 वर्षीय युवक का अपहरण, अब तक नहीं मिली कोई सुराग

डिजिटल डेस्क, नागपुर। कामठी तहसील के लिहिगांव के 9 वर्षीय सूजल नेपाल वासनिक नामक बच्चे का अपहरण विगत 2017 में हुआ था। अभी तक इस मामले की गुत्थी सुलझाने में पुलिस नाकाम रही है। वहीं अब इसी गांव के एक 17 वर्षीय युवक का शुक्रवार की सुबह कामठी रेलवे स्टेशन के प्रवेश द्वार से अपहरण होने की घटना सामने आई है। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार नरेश शुक्ला यह मूल रूप से गोंदिया का निवासी है। गत 15 वर्ष से तहसील के लिहिगांव परिसर की एक निजी कंपनी में व्यवस्थापक के रूप में कार्यरत है। लिहिगांव में ही वे किराए के मकान में अपने परिवार के साथ रहते हैं। दिवाली के उपलक्ष्य में वे अपनी पत्नी विनिता व 17 वर्षीय बेटे आदेश के साथ गोंदिया गए थे। शुक्रवार की सुबह करीब 10.15 बजे तीनों महाराष्ट्र एक्सप्रेस से कामठी रेलवे स्टेशन पर उतरे। स्टेशन पर उतरने के बाद नरेश शुक्ला स्टैंड पर रखी मोटरसाइकिल लाने गए और आदेश अपनी मां के साथ स्टेशन के गेट पर खड़ा था। इस दौरान आदेश ने मां से कहा कि, वह खाने के लिए सामनेवाले होटल से नाश्ता लाने जा रहा है। थोड़ी देर बाद नरेश गाड़ी लेकर आए और उन्होंने पत्नी से आदेश के बारे में पूछा। काफी देर होने के बावजूद जब आदेश नहीं लौटा तो उसकी खोजबीन शुरू कर दी। जब वह नहीं मिला तो देर शाम आदेश के पिता ने कामठी के नए पुलिस थाने में जाकर घटना की जानकारी दी और शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने धारा 363 के तहत अज्ञात अपहरणकर्ताओं के खिलाफ मामला दर्ज कर आदेश की खोजबीन शुरू कर दी है। बता दें कि, आदेश शुक्ला यह खैरी नवेगांव पेंच तहसील पारशिवनी के नवोदय विद्यालय में कक्षा 12वीं में पढ़ता है। दिनदहाड़े इस तरह की घटना होने से आश्चर्य व्यक्त किया जा रहा है। सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले जा रहे हैं। लिहिगांव में ही 16 सितंबर 2017 को 9 वर्षीय सूजल नेपाल वासनिक नामक बच्चे का अपहरण किया गया था। दो साल का लंबा समय बीत जाने के बाद भी सूजल का कोई सुराग पुलिस नहीं लगा पाई है। कहीं इस घटना की भी पुनरावृत्ति तो नहीं होगी ऐसे सवाल भी अब उठ रहे हैं।
 

महिला ने महिला को चाकू व हथौड़ी मारकर किया घायल

उधर कामठी के नया पुलिस थाना अंतर्गत आने वाले कुंभारे कालोनी परिसर में पुराने विवाद के चलते मां-बेटी ने मिलकर पड़ोसन पर चाकू और हथौड़ी से वार कर घायल करने की घटना गुरुवार को घटी। इस मामले में पुलिस ने आरोपी मां-बेटी को हिरासत में ले लिया है। पुलिस सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार फरियादी महिला निखत खान साजिद खान (35) कुंभारे कालोनी, भुराजी मंदिर के समीप रहती है। इनके पड़ोस में आरोपी महिला गफ्फू उर्फ शबनम पसेरकर (45) और इनकी बेटी नंदिनी उर्फ सायबा पसेरकर (20) रहती थी। फिलहाल यह दोनों अपने परिवार के साथ नागपुर के मेहतरपुरा क्षेत्र में रहती हैं। गुरुवार की सुबह यह दोनों अपना कुछ बचा हुआ सामान लेने कामठी के मकान में आए थे। सुबह का समय होने से फरियादी महिला अपने घर के आंगन में अखबार पढ़ रही थी कि, अचानक किसी बात को लेकर विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ गया कि, आरोपी मां-बेटी ने मिलकर फरियादी महिला के गले पर चाकू से और पैर पर हथौड़ी मारकर बुरी तरह घायल कर दिया। पड़ोसियों के मुताबिक इन दोनों परिवार में अक्सर विवाद होता था। पुलिस को खबर मिलते ही घटनास्थल पर पहुंचकर आरोपी मां-बेटी को हिरासत में लेकर भादंवि की धारा 307, 143, 147, 148, 149, 504 और 506 के तहत मामला दर्ज किया है। खबर लिखे जाने तक पुलिस ने इन्हें गिरफ्तार नहीं दिखाया है। घायल महिला का अस्पताल में इलाज जारी है।
 

कमेंट करें
SiR0d