comScore

बेटी से मिलने हाईकोर्ट के चक्कर काट रहीं मौसमी चटर्जी, दामाद बोले- मैंने नहीं रोका

November 24th, 2018 18:27 IST
बेटी से मिलने हाईकोर्ट के चक्कर काट रहीं मौसमी चटर्जी, दामाद बोले- मैंने नहीं रोका

डिजिटल डेस्क, मुंबई। बीते जमाने की सुप्रसिद्ध फिल्म अभिनेत्री मौसमी चटर्जी के दामाद ने अपने वकील के मार्फत शनिवार को बांबे हाईकोर्ट को सूचित किया है कि उसने अपनी सास को बेटी से मिलने से नहीं रोका है। हाल ही में उनकी सास ने घर आकर बेटी का हालचाल लिया था। उसने किसी को भी अपने घर में आने से नहीं रोका है। मैं उन्हें बेटी के इलाज से जुड़े दस्तावेज भी देने को तैयार हूं। हाईकोर्ट में चटर्जी की ओर से दायर याचिका पर सुनवाई के दौरान शनिवार को कोर्ट को यह जानकारी दी गई।

अपनी याचिका में मौसमी ने मांग की थी कि उन्हें ससुराल में अचेत अवस्था में पड़ी बेटी पायल से मिलने दिया जाए। याचिका में उन्होंने दावा किया था कि उनका दामाद बेटी से मिलने में अवरोध पैदा कर रहा है। शुक्रवार को हाईकोर्ट ने इस मामले में मौसमी के दामाद को याचिका में उठाए गए मुद्दे का जवाब देने का निर्देश दिया था।

शनिवार को मौसमी के दामाद के वकील ने जस्टिस बीपी धर्माधिकारी व जस्टिस सारंग कोतवाल की बेंच के सामने कहा कि अभी हाल ही में मेरे मुवक्किल की सास (मौसमी चटर्जी) ने घर पर आकर अपनी बेटी का हाल चाल लिया था। मेरे पास इससे संबंधित सीसीटीवी फुटेज भी मौजूद है। इस पर मौसमी के वकील बेनी चटर्जी ने कहा कि मेरे मुवक्किल को उनकी बेटी के इलाज से जुड़ी रिपोर्ट भी नहीं दी जा रही है।

जवाब में दामाद के वकील ने कहा कि मैं रिपोर्ट की एक प्रति देने को तैयार हूं। मामले से जुड़े दोनों पक्षों को सुनने के बाद बेंच ने याचिका को समाप्त कर दिया। इसके साथ ही कहा कि इस तरह के मामले आपसी सहमति से पारिवारिक स्तर पर सुलझाए जाने चाहिए। कोर्ट ने दामाद को निर्देश दिया कि वे अपनी सास को इलाज से जुड़े सारे दस्तावेज प्रदान करे।

साल 2010 में मौसमी की बेटी पायल का डिकी मेहता के साथ विवाह हुआ था। शादी के कुछ समय बाद पायल गंभीर बीमारी की चपेट में आ गई। पिछले साल उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां मौसमी अपनी बेटी से मिलने के लिए जाती थी। याचिका में कहा गया था कि कुछ महीनों पहले पायल की अचेत अवस्था में अस्पताल से छुट्टी कराई गई। फिलहाल वह खार इलाके मेें स्थित अपने ससुराल के घर में है। याचिका में मौसमी ने कहा था कि उनकी बेटी जबसे अस्पताल से अपने ससुराल के घर में गई है, तब से उनको व उनके परिवजनों को पायल से मिलने नहीं दिया जा रहा है। इसलिए मुझे मेरी बेटी से मिलने के लिए अनुमति प्रदान की जाए।

कमेंट करें
NtQBX