comScore

ACB की कार्रवाई : नागपुर में धराया हवलदार, अकोला में बिजली कंपनी के डिप्टी सीईओ पर शिकंजा

January 30th, 2019 12:24 IST
ACB की कार्रवाई : नागपुर में धराया हवलदार, अकोला में बिजली कंपनी के डिप्टी सीईओ पर शिकंजा

डिजिटल डेस्क, नागपुर। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने हुडकेश्वर पुलिस थाने के हवलदार संजय गायधने को एक ठेकेदार से 20 हजार रुपए कि रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया। चंद्रपुर जिले के बल्लारपुर में रहनेवाले लेबर कांट्रेक्टर व उनके ममेरे भाई के खिलाफ हुड़केश्वर पुलिस थाने में सड़क दुर्घटना के संबंध में मामला दर्ज था। पुलिस ने भादंवि की धारा 279, 337, 338, 427 के तहत मामला दर्ज किया था।

मामले की गंभीरता कम करने व पुलिस थाने से ही जमानत देने के नाम पर हवलदार ने पीड़ित कांट्रेक्टर से 20 हजार की रिश्वत मांगी थी। इस बीच पीड़ित ने मामले की शिकायत भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) से कर दी। एसीबी ने जाल बिछाकर हलवदार को आज 20 हजार की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया। आरोपी हवलदार संजय गायधने के खिलाफ हुडकेश्वर थाने में ही मामला दर्ज किया गया है। हवलदार की गिरफ्तारी से पुलिस महकमे में हडकंप मच गया है। एसीबी के अपर अधीक्षक राजेश दुधलवार के मार्गदर्शन में निरीक्षक फालगुल घोडमारे व टीम ने कार्रवाई की। एसीबी मामले की जांच कर रही है। 

दो हजार की रिश्वत लेते बिजली कंपनी का डिप्टी सीईओ शिरसे गिरफ्तार
उधर अकोला में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के पास पीड़ित ने शिकायत दर्ज कराई थी। जिसमें कहा गया था कि सौर ऊर्जा प्रकल्प के लिए योग्यता प्रमाणपत्र फीजिबीलिटी रिर्पोट के लिए महावितरण कंपनी के पास लिखित स्वरूप में आवेदन किया था। प्रमाणपत्र देने के ऐवज में बिजली कंपनी का अतिरिक्त कार्यकारी अभियंता 57 वर्षीय मोरेश्वर शिरसे ने उनसे 2 हजार रूपए रिश्वत मांग रहा था।

नियमानुसार काम होने के बावजूद भी अधिकारी द्वारा रिश्वत की मांगी जा रही है। शिकायत के आधार पर एसीबी के उपअधीक्षक संजय गोर्ले ने 28 जनवरी को बिजली कंपनी के कार्यालय में टीम भेजी। शिकायत सही पाने के एसीबी ने आरोपी अभियंता को रंगेहाथ पकड़ने के लिए मंगलवार को जाल बिछाया। पीड़ित को 2 हजार रूपए की रिश्वत लेकर दुर्गा चौक पर महावितरण के मुख्य कार्यालय में भेजा गया। जैसे ही 2 हजार रूपए की रिश्वत एसीबी को इशारा हुआ। जाल बिछाकर रंगेहाथ रिश्वत लेते गिरफ्तार कर लिया।

कमेंट करें
vQod1