comScore

फेसबुक फ्रेंड ने किया किडनैप, पुलिस की लापरवाही से भागा आरोपी

फेसबुक फ्रेंड ने किया किडनैप, पुलिस की लापरवाही से भागा आरोपी

डिजिटल डेस्क, नागपुर। फेसबुक मित्र ही किशोरी का अपहरणकर्ता निकाला। किशोरी को पुणे ले जाया गया है।  दिनदहाड़े हुए इस प्रकरण को लेकर अजनी और सक्कदरा पुलिस लापरवाही बरतती रही। अन्यथा आरोपी पुलिस की गिरफ्त में होता। धंतोली थाने में प्रकरण दर्ज किया गया है। 

जानकारी के अनुसार आरोपी ने किशोरी को रेलवे स्टेशन पर बुलाया था। अपहृत 17 वर्षीय किशोरी सक्करदरा थाना क्षेत्र निवासी है। कक्षा 11वीं में अध्ययनरत है, जबकि आरोपी आशीष कालभोर (20), पुणे निवासी है।  कुछ माह पहले आशीष और किशोरी की पहचान फेसबुक पर हुई। दोनों में मित्रता हुई। इस दौरान आशीष ने किशोरी को प्रेम संबंधों में फांस लिया और शादी का वादा किया। दो-तीन बार वह युवती के घर भी आया। इस बीच आशीष ने किशोरी का अपहरण कर उसे पुणे ले जाने की योजना बनाई। योजना के तहत आशीष 15 अगस्त को नागपुर आया और किशोरी को मिलने के लिए अजनी रेलवे स्टेशन पर बुलाया।

अजनी-सक्करदरा पुलिस की लापरवाही

इस मामले में माता-पिता ने पहले अजनी और सक्करदरा थाने में प्रकरण दर्ज कराने की कोशिश की, लेकिन घटना उनके थाना क्षेत्र में नहीं होने का हवाला देकर पुलिस मामले को लेकर लापरवाही बरतती रही। अन्यथा पुणे भागने के पूर्व ही आरोपी आशीष को गिरफ्तार किया जा सकता था। उप-निरीक्षक वानखेड़े ने धंतोली थाने में प्रकरण दर्ज किया है। जांच जारी है। 

कॉलेज जाने के बहाने घर से निकली थी किशोरी

युवती ने माता-पिता को कांग्रेस नगर स्थित कॉलेज में 15 अगस्त के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेने का झांसा देकर घर से पिता के साथ निकली, लेकिन बीच रास्ते में पेट्रोल खत्म होने पर उन्होंने एक परिचित व्यक्ति के साथ किशोरी को कॉलेज भेजा। इस बीच आशीष का किशोरी के पिता के मोबाइल पर संदेश आया। संदेश में कहा गया कि, किशोरी उसके साथ नहीं आई। वह अकेला ही पुणे आया है। यह सब आशीष को कैसे पता चला। इससे आशीष पर संदेह गहराया और आशीष पर ही किशोरी का अपहरण करने का आरोप माता-पिता ने लगाया है। 
 

कमेंट करें
XzOP0