comScore

'स्वतंत्र बलूचिस्तान' के जरिए टाइम्स स्क्वायर से उठेगी अन्याय के खिलाफ आवाज

December 28th, 2017 15:30 IST
'स्वतंत्र बलूचिस्तान' के जरिए टाइम्स स्क्वायर से उठेगी अन्याय के खिलाफ आवाज

डिजिटल डेस्क, न्यूयॉर्क। विश्व बलोच संगठन (डब्लूब्लूओ) ने न्यूयॉर्क सिटी में टाइम्स स्क्वायर के प्रतिष्ठित टाइम्स पर 'स्वतंत्र बलूचिस्तान' के नारे वाले बिलबोर्ड लगाए गए हैं। पाकिस्तान द्वारा मानवाधिकारों के दुरुपयोग के विरोध में यह बिलबोर्ड लगाए गए हैं। न्यूयॉर्क के दिल में यह बिलबोर्ड लगाया गया है। इस बिलबोर्ड में पाकिस्तान के अपहरण, यातना और कब्जे वाले बलूचिस्तान में नरसंहार और बलूच लोगों के आत्मनिर्णय के अधिकार पर प्रकाश डाला गया है।

बलूचिस्तान की स्थिति से दुनिया को अवगत कराने प्रयास

इस बोर्ड के जरिए कहा गया है कि "हमारा लक्ष्य अमेरिकी जनता तक पहुंचने और उन्हें बलूचिस्तान में बिगड़ती स्थिति से अवगत कराना है। जिसे अंतर्राष्ट्रीय समुदाय द्वारा मुख्य रूप से अंतरराष्ट्रीय समुदाय तक पहुंचने से पाकिस्तान को रोकने के प्रयासों के कारण अंतरराष्ट्रीय समुदाय द्वारा अनदेखा किया गया है। डब्लूब्लूओ, मीर जावेद मेंगल के मुख्य आयोजक ने कहा, "टाइम्स स्क्वायर के नए साल की शाम के समारोह में हम अमेरिकी लोगों और बाकी सभ्य दुनिया में हमारे मानव अधिकार संदेश प्राप्त करने की आशा करते हैं।"

संयुक्त राष्ट्र से भी अपील


"हम दुनिया के लोगों से अपील करते हैं कि वे बलूच के लोगों के खिलाफ अन्याय के खिलाफ आवाज उठाए। ऐसे लोग जो अपने मूल अधिकारों और आत्मनिर्णय के लिए प्रयास करते रहें हैं। हम मानवता के खिलाफ अपराधों के नोटिस लेने के लिए संयुक्त राज्य और संयुक्त राष्ट्र से भी अपील करते हैं। मीर जावेद मेंगल ने यह भी कहा कि "पाकिस्तान द्वारा किए जा रहे मानवता के खिलाफ अपराधों को ध्यान में रखकर और अंतरराष्ट्रीय कानूनों और करारों का उल्लंघन करने के लिए उसे जिम्मेदार ठहराया जाए। बता दें कि पाकिस्तान ने अंतरराष्ट्रीय प्रेस, मानव अधिकार पर नज़र रखी और सहायता एजेंसियों को बलूचिस्तान में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी है।

लंदन में भी हो चुका अभियान का प्रचार

इस विज्ञापन के जरिए धर्मनिरपेक्ष बलूच के लोगों की दुर्दशा के बारे में जागरूकता बढ़ाने की कोशिश है। जिन्होंने कई दशकों तक पाकिस्तानी अधिकारियों द्वारा मानवाधिकारों के दुरुपयोग का सामना किया है। यह बिलबोर्ड विज्ञापन शहर में चल रहे मानवाधिकार अभियान का हिस्सा हैं। जिसमें 100 से अधिक टैक्सियों पर इस बोर्ड को लगाया गया है। लंदन, ब्रिटेन में अभियान को लागू करने के बाद अब न्यूयॉर्क शहर में भी इस जागरूकता अभियान को चलाया जा रहा है। लंदन की बसों में भी इस अभियान के पोस्टर लगे हैं।

कमेंट करें
2R9cg