comScore

हीट एक्शन का अलर्ट , 51 की संदिग्ध मौत, कई अस्पताल में भर्ती

हीट एक्शन का अलर्ट , 51 की संदिग्ध मौत, कई अस्पताल में भर्ती

डिजिटल डेस्क, नागपुर। गर्मी के कारण शहर में 15 मार्च से हीट एक्श्न प्लान लागू हो गया है। शहर में 45 डिग्री सेल्सियस पर हीट एक्शन का अलर्ट मनपा का स्वास्थ्य विभाग द्वारा माना जाता है। इन सब के बीच अब तक शहर में गर्मी के कारण 51 लोगों की संदिग्ध मौत हो चुकी है।

हैरानी की बात यह है कि मनपा इनमें से किसी भी मौत का कारण गर्मी को नहीं मान रही है, जबकि उपाय-योजना के नाम पर सिर्फ निर्देश देकर अपना पल्ला झाड़ चुकी है। निजी अस्पताल व सरकारी अस्पतालों में बाह्य रोग विभाग में गर्मी के कारण बीमारी का उपचार लेने वाले 306 और भर्ती मरीजों की संख्या 7 के आंकड़ा मनपा के पास है।

मतलब नहीं रह जाएगा
ध्यान देने वाली बात यह है कि गर्मी में जितनी भी मौतें हो रही हैं, उनकी पुष्टि अभी तक मनपा ने सामान्य मृत्यु में की है। मनपा का मानना है कि शव विच्छेदन और स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के बाद ही पुष्टि होगी कि मृत्यु का कारण क्या है। पर यह रिपोर्ट गर्मी खत्म होने के बाद आएगी और ऐसे में उन रिपोर्ट के आधार पर सावधानी बरतने का कोई मतलब नहीं रह जाएगा, क्योंकि तब तक मौसम सामान्य हो जाएगा।

कौन करे कार्रवाई
मनपा ने हीट एक्शन प्लान को ना मानने वालों पर कार्रवाई से हाथ खड़े कर दिए हैं। उनका कहना है कि वह सिर्फ लोगों को जागरूक कर सकते हैं लेकिन यदि कोई उसको नहीं मानता है, तो हम कोई कार्रवाई नहीं कर सकते है। शहर भर में काम करने वाली बड़ी-बड़ी एजेंसियां भरी दोपहर में कर्मचारियों से मजदूरी करवा रहीं हैं, लेकिन उन पर कार्रवाई कौन करेगा यह एक बड़ा सवाल बन गया है।

शेल्टर में जा सकते हैं लोग
गर्मी से बचने के लिए कोई भी नागरिक शेल्टर में आश्रय ले सकता है। सर्दी के मौसम जैसा मनपा पुलिस विभाग के साथ कैंपनिंग चलाकर उन्हें शेल्टर में नहीं भेज रहा है। हालांकि इन दिनों फुटपाथ पर रहने वाले भिखारियों की मरने के मामले ज्यादा सामने आ रहे हैं।

गर्मी के कारण कोई मौत नहीं 
हमने लोगों को हीट एक्शन प्लान के लिए जागरूक किया है। गर्मी से बचाव के बारे में जानकारी दी है। गार्डन खुले रखना, पानी की सुविधा आदि व्यवस्थाएं की है। कोई उनको नहीं मानता है, तो हम कार्रवाई नहीं कर सकते हैं। फिलहाल गर्मी के कारण किसी की मृत्यु दर्ज नहीं की गई है। -राम जोशी, अतिरिक्त आयुक्त, मनपा

कमेंट करें
XifQy