comScore

महबूबा ने मांगी यासीन की रिहाई, कहा- साध्वी प्रज्ञा आरोपी होते हुए भी बाहर

महबूबा ने मांगी यासीन की रिहाई, कहा- साध्वी प्रज्ञा आरोपी होते हुए भी बाहर

हाईलाइट

  • मुफ्ती ने आज साध्वी प्रज्ञा ठाकुर की रिहाई पर सवाल उठाते हुए यासीन मलिक और अन्य अलगाववादियों को रिहा करने की मांग की।
  • महबूबा ने ट्वीट कर कहा कि मलिक वास्तव में बीमार हैं, उन्हें और अन्य अलगाववादियों को तुरंत रिहा कर देना चाहिए।
  • जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री ने ट्रेफिक बैन के खिलाफ आज जमकर प्रदर्शन किया। मुफ्ती ने समर्थकों के साथ मिलकर रोष रैली निकाली।

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। अलगाववादी यासीन मलिक की गिरफ्तारी का पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती लगातार विरोध कर रही हैं। मुफ्ती ने आज साध्वी प्रज्ञा ठाकुर की रिहाई पर सवाल उठाते हुए यासीन मलिक और अन्य अलगाववादियों को रिहा करने की मांग की। बता दें कि दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने मलिक को 24 मई तक न्यायिक हिरासत में भेजा है। 

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी सुप्रीमो महबूबा मुफ्ती अलगाववादी नेता यासीन मलिक के स्वास्थ को लेकर काफी चिंतित नजर आ रही हैं। महबूबा ने ट्वीट कर कहा कि मलिक वास्तव में बीमार हैं, उन्हें और अन्य अलगाववादियों को तुरंत रिहा कर देना चाहिए। साथ ही मुफ्ती ने भोपाल लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा का जिक्र करते हुए कहा कि उनपर भी कई आरोप हैं, लेकिन उन्हें रिहा कर दिया गया। बता दें कि आतंकियों को मदद पहुंचाने और उनके साथ संबंध रखने के आरोपों के चलते केंद्र सरकार ने यासीन मलिक को गिरफ्तार करने का आदेश दिया था। साथ ही सरकार ने मलिक के संगठन जेकेएलएफ(जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट) पर भी बैन लगा दिया था। फिलहाल मलिक तिहाड़ जेल में कैद हैं। 

हाईवे पर ट्रेफिक बैन पर निकाला जुलूस
जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री ने ट्रेफिक बैन के खिलाफ आज जमकर प्रदर्शन किया। मुफ्ती ने समर्थकों के साथ मिलकर रोष रैली निकाली। साथ ही उन्होंने बताया कि इस रैली का आयोजन 31 मई तक हर रविवार और बुधवार को किया जाएगा। 

रैली में हाइवे बंद के विरोध के साथ साथ पीडीपी कार्यकर्ताओं ने जमात ए इस्लामी से बैन हटाने और यासीन मलिक की रिहाई के पक्ष में नारेबाजी की। महबूबा ने भारतीय जनता पार्टी पर आरोप लगाते हुए कहा कि दिल्ली में बैठी सरकार कश्मीर को हथियार की तरह इस्तेमाल कर रही है। 


 

Loading...
कमेंट करें
F7kie
Loading...
loading...