comScore

मिनटों में क्लीन हो जाता है मेट्रो ,  गजब का है ऑटोमेटिक ट्रेन वॉशिंग प्लांट

मिनटों में क्लीन हो जाता है मेट्रो ,  गजब का है ऑटोमेटिक ट्रेन वॉशिंग प्लांट

डिजिटल डेस्क, नागपुर। शहरवासियों का ड्रीम प्रोजेक्ट मेट्रो को लेकर हर जानकारी से लोग वाकिफ होना चाहते हैं। शहर में मेट्रो के दौड़ने के बाद इसके मेंटनेंस  पर भी चर्चा होना वाकिफ है। बता दें कि लंबी चौड़ी मेट्रो की सफाई मिनटों में हो रही है। महा मेट्रो की ओर से वर्धा मार्ग रीच-1 में हर घंटे अप और डाउन लाइन पर मेट्रो ट्रेन का संचालन किया जा रहा है। ट्रेन की साफ-सफाई के लिए महा मेट्रो की ओर से मिहान डिपो परिसर में  ऑटोमेटिक ट्रेन वॉशिंग प्लांट लगाया गया है। प्रतिदिन सुबह ट्रेनों का संचालन होने से पहले यहां ट्रेनों की धुलाई और साफ-सफाई की जाती है। रात में ट्रेन डिपो में पहुंचने के बाद धुलाई की जाती है। प्लांट का संचालन प्रोग्राम कंट्रोल पैनल द्वारा किया जाता है। इसमे फोटो इलेक्ट्रिक सेंसर और सेल्स आदि उपकरण लगे हुए हैं। कितनी भी लंबाई की ट्रेन की धुलाई और साफ-सफाई यहां की जा सकती है। केवल 3 मिनट में तीन कोच की ट्रेन की धुलाई और सफाई हो जाती है। धुलाई का कार्य स्वचलित होने से कम खर्च में कार्य हो रहा है। सफाई के लिए डिटरजेंट अल्कलाइन का उपयोग किया जाता है।

खतरा होने पर अपने आप बंद  हो जाती है मशीन

उल्लेखनीय है कि  इस प्लांट मे 100 प्रतिशत रीसाइकिलिंग वाटर का उपयोग किया जा सकता है। प्लांट में ट्रेन की धुलाई के समय ट्रेन की स्पीड 3 किलोमीटर प्रति घंटा रखी जाती है। 3 मिनट की अवधि में ट्रेन के तीनों कोचों को प्लांट में पटरी के दोनों ओर लगे ब्रश आसानी से साफ कर देते हैं। आकस्मिक परिस्थिति उत्पन्न होने पर ब्रश अपना काम करना तुरंत बंद कर देते हैं। तकनीकी खराबी आने पर प्लांट का संचालन मैन्युल भी किया जा सकता है। बिजली और पानी की कम खपत में प्लांट कार्य कर रहा है। कंट्रोल पैनल के जरिए ट्रेन के दोनों साइड सफाई की जाती है। प्लांट में किसी भी प्रकार का खतरा उत्पन्न होने पर स्वचलित मशीन अपने-आप बंद हो जाती है।
 

कमेंट करें
xAkmt