comScore

यूनिवर्सिटी ने स्थगित की तीन दिन की परीक्षाएं, जानिए किस तिथि को होगी

यूनिवर्सिटी ने स्थगित की तीन दिन की परीक्षाएं, जानिए किस तिथि को होगी

डिजिटल डेस्क, नागपुर। यूनिवर्सिटी ने तीन दिन की परीक्षाएं स्थगित की हैं। यूनिवर्सिटी द्वारा जारी नोटिफिकेशन के अनुसार 14 अक्टूबर को धम्म चक्र प्रवर्तन दिन और 21-22 अक्टूबर को विधानसभा चुनावों के मद्देनजर परीक्षाएं नहीं होंगी। इसकी जगह नए स्लॉट में ये परीक्षाएं होंगी। 14 अक्टूबर की सभी परीक्षाएं 25 अक्टूबर को होंगी। 21 अक्टूबर की परीक्षाएं 26 अक्टूबर को रखी गई हैं। इसी तरह 22 अक्टूबर की परीक्षाएं 30 अक्टूबर को रखी गई हैं।

जानकारी के अनुसार यूनिवर्सिटी के इस फैसले से करीब विविध पाठ्यक्रमों की 200 से अधिक परीक्षाएं स्थगित होंगी। नागपुर यूनिवर्सिटी की शीतकालीन परीक्षा में विविध पाठ्यक्रमों की करीब 1200 परीक्षाएं होती हैं, जिसमें करीब 3 लाख विद्यार्थी शामिल होते हैं। इसके पहले अप्रैल में हुए लोकसभा चुनावों के चलते भी नागपुर यूनिवर्सिटी को अपनी कुछ परीक्षाएं स्थगित करनी पड़ी थीं। अब धम्म चक्र प्रवर्तन दिन और विधानसभा चुनावों के मद्देनजर फिर परीक्षाएं स्थगित की जा रही हैं।

यूनिवर्सिटी के अधिकारी कर रहे चुनाव प्रचार

राष्ट्रसंत तुकड़ोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय के आला अधिकारी इन दिनों पार्टी के प्रचारक बन बैठे हैं। विश्वविद्यालय के प्रभारी कुलसचिव डॉ. नीरज खटी इन दिनों दुपट्टा ओढ़े अन्य कार्यकर्ताओं के साथ मतदाता क्षेत्र में चुनाव प्रचार करते नजर आ रहे हैं। उनकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद नेशनल स्टूडेंट्स यूनियन ऑफ इंडिया ने डॉ. खटी की चुनाव आयोग, राज्यपाल कार्यालय और नागपुर विश्वविद्यालय से शिकायत कर दी है। दरअसल चुनाव आयोग के नियमों के मुताबिक सरकारी अधिकारी-कर्मचारियों को चुनाव के दौरान निष्पक्ष भूमिका में रहना चाहिए। उन्हें सभी राजनीतिक दलों को एक दृष्टि से देखना चाहिए। 

सरकारी अधिकारी कर्मचारियों को मतदान के अलावा ऐसी किसी गतिविधि में हिस्सा नहीं लेना चाहिए, जिससे किसी पार्टी या उम्मीदवार का प्रचार होता हो।   ऐसे में एनएसयूआई ने चुनाव आयोग से डॉ. नीरज खटी पर दंडात्मक कार्रवाई करने की मांग की है। वहीं राष्ट्रवादी युवक कांग्रेस ने भी डॉ. खटी का विरोध किया है। संगठन के शैलेंद्र तिवारी ने भी विवि और चुनाव आयोग से डॉ. खटी के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। तिवारी के अनुसार नागपुर विवि बीते कुछ वर्षों से चुनाव प्रचार का केंद्र बन गया है। इस प्रकरण में डॉ. खटी ने चुप्पी साध रखी है। फोन पर संपर्क करने पर उन्होंने कोई उत्तर नहीं िदया।

कमेंट करें
tfdAw