comScore

90 दिन बाद शहर का कचरा संकलन करेगी नई दो एजेंसियां

90 दिन बाद शहर का कचरा संकलन करेगी नई दो एजेंसियां

डिजिटल डेस्क, नागपुर। शहर में कचरा संकलन कर रही कनक रिसोर्सेस मैनेजमेंट नई निविदा प्रक्रिया में बाहर हो गई। अब शहर में नई दो एजेंसियों की नियुक्ति की गई है। इन एजेंसियों को कार्य शुरू करने के लिए 90 दिन की मोहलत दी गई है। तब तक कनक रिसोर्सेस को कचरा संकलन की जिम्मेदारी निभानी होगी। इस बीच, कनक के हाथ खड़े करने पर मनपा द्वारा कचरा संकलन की व्यवस्था की जाएगी। नागरिकों को किसी भी प्रकार की असुविधा नहीं होने देने के लिए मनपा पूरी तरह सक्षम रहने का दावा मनपा में सत्तापक्ष नेता संदीप जोशी ने पत्र परिषद में किया। 

टेंडर में हुआ चयन
कचरा संकलन के लिए नए सिरे से एजेंसी नियुक्ति के लिए हाल ही में निविदा प्रक्रिया अपनाई गई। कनक रिसोर्सेस पर संपूर्ण शहर का कचरा संकलन की जिम्मेदारी थी। इस बार शहर को दो हिस्सों में विभाजित कर अलग-अलग एजेंसियों को कचरा संकलन के लिए नियुक्त करने का निर्णय लिया गया। निविदा प्रक्रिया में 7 एजेंसियों ने हिस्सा लिया। इसमें से पहले फेज के लिए सभी 7 एजेंसियों और दूसरे फेज के लिए 6 एजेंसियों ने निविदा भरी। इसमें से न्यूनतम दर की प्रथम 3 एजेंसियों को फाइनेंशियल बीड पर चुनकर टेक्निकल बीड का मूल्यांकन किया गया। इसमें से बीवीजी और एजी एजेंसी का चयन किया गया।  इन दो एजेंसियों की निविदा का स्थायी समिति ने मंजूरी दे दी है। कनक रिसोर्सेस टेक्निकल बीड में चौथे पायदान पर रहने से निविदा प्रक्रिया से बाहर हो गई। नई एजेंसियों को काम शुरू करने के लिए 90 दिन की मोहलत दी गई है। 

प्रतिदिन 5 लाख रुपए अतिरिक्त बोझ
शहर से प्रतिदिन 1250 मीट्रिक टन कचरा निकलता है। इसमें 250 टन बायोकेमिकल वेस्ट रहता है। कनक को प्रति मीट्रिक टन 1460 रुपए के हिसाब से 1000 मीट्रिक टन का प्रतिदिन लगभग साढ़े चौदह लाख रुपए भुगतान किया जाता है। नई एजेंसियों को पहले फेज के लिए 1950 रुपए और दूसरे फेज के लिए 1800 रुपए प्रति मीट्रिक टन दर मंजूर किया गया है। नए दर के अनुसार दोनों एजेंसियों को प्रतिदिन साढ़े 19 लाख रुपए भुगतान करने पड़ेंगे। यानी मनपा पर प्रतिदिन लगभग 5 लाख रुपए का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा। 
 

कमेंट करें
e6tNJ