comScore

मालगाड़ी की कपलिंग टूटी, 13 डिब्बे छोड़ इंजन निकल गया आगे

July 04th, 2018 17:57 IST
मालगाड़ी की कपलिंग टूटी, 13 डिब्बे छोड़ इंजन निकल गया आगे

डिजिटल डेस्क, छिन्दवाड़ा/ पांढुर्ना। बुधवार की सुबह करीब 8.30 बजे नई दिल्ली-चैन्नई रेलमार्ग के अप लाईन पर कोयले से भरी मालगाड़ी ट्रेन की कपलिंग टूट गई। कपलिंग टूटने से मालगाड़ी के 13 डिब्बे थम गए, जबकि इंजन समेत 55 डिब्बे आगे निकल गए। यह घटना पांढुर्ना रेल्वे स्टेशन के मुख्य परिसर के आमने-सामने मौजूद ट्रैक पर हुई। घटना की सूचना आगे निकल गए इंजन के लोको पायलट को वायरलेस पर दी गई, जिसके बाद मालगाड़ी रोककर इससे टूटे 13 डिब्बों को जोड़ने की कवायद शुरू हुई। इस दौरान करीब-करीब दो घंटे रेल यातायात प्रभावित हुआ।

बताया जा रहा है कि बुधवार की सुबह कोयला लेकर नागपुर से यूपी की तरफ जा रही एक MTSS मालगाड़ी की पांढुर्ना स्टेशन से गुजरते समय कपलिंग टूटकर अलग हो गई। जिससे मालगाड़ी दो भागों में बंट गई। कपलिंग टूटने से मालगाड़ी के 13 डिब्बे और गार्ड का केबिन डिब्बा रूककर पीछे छूट गया। वहीं इंजन और अन्य 55 डिब्बे आगे निकल गए। इंजन के लोको पायलट को वायरलेस पर घटना की सूचना मिलते तक मालगाड़ी करीब दो किलोमीटर आगे निकल चुकी थी। सूचना के बाद मालगाड़ी को रोककर अलग हुए सभी 13 डिब्बों को जोड़ने का रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू हुआ।

करीब 11 बजे आमला से आई टीम ने करीब दो घंटे की मशक्कत के बाद इंजन व 55 डिब्बों को अलग हुए 13 डिब्बों से जोड़कर मालगाड़ी को एक कर दिया, जिसके बाद करीब दो बजे एक इंजन बैंकर की मदद से मालगाड़ी आगे रवाना की गई। इस दौरान रेल यातायात प्रभावित हुआ, जिससे कई यात्री ट्रेनों पर असर पड़ा।

एक घंटे तक बंद रहा रेल्वे फाटक
मालगाड़ी की कपलिंग टूटने और करीब दो घंटे के रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान रेल यातायात पर असर पड़ा। इस दौरान अमरावती रोड का रेल्वे फाटक करीब एक घंटे तक बंद रहा। जिससे फाटक के दोनों ओर वाहनों की कतार लगी रही। रेल्वे फाटक बंद होने से मार्ग जाम रहा, जिसके चलते लोगों ने अन्य रास्तों से आवागमन किया। स्थानीय लोगों ने बताया कि सुबह 8.30 बजे हुई घटना के चलते मालगाड़ी का हिस्सा करीब एक घंटे तक फाटक पर अटका रहा, जिसके कारण फाटक बंद रहा। रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू होने के बाद फाटक खोलकर वाहनों की आवाजाही शुरू कराई गई। इस दौरान कई लोग परेशान हुए।

इनका कहना है
बुधवार की सुबह MTSS मालगाड़ी की कपलिंग टूट गई थी। जिसके बाद आमला से पहुंची रेस्क्यू टीम ने करीब एक बजे तक मालगाड़ी को जोड़ने का काम किया। इसके बाद बैंकर इंजन लगाकर मालगाड़ी आगे रवाना की गई। मालगाड़ी में कोयला भरा था और यह यूपी की ओर जा रही थी।
दशरथ महंता, स्टेशन मास्टर, रेलवे स्टेशन पांढुर्ना।

कमेंट करें
oGsZp