comScore

एयरस्पेस खोलने के लिए पाक की शर्त, भारत फॉरवर्ड बेस से हटाए फाइटर जेट

एयरस्पेस खोलने के लिए पाक की शर्त, भारत फॉरवर्ड बेस से हटाए फाइटर जेट

हाईलाइट

  • पाक ने अपने एयरस्पेस को खोलने के लिए भारत के सामने शर्त रखी है
  • भारत के फॉरवर्ड एयरबेस से फाइटर जेट हटाने के बाद ही पाक खोलेगा एयरस्पेस
  • एयरस्ट्राइक के बाद 26 फरवरी को अपना एयरस्पेस पूरी तरह से बंद कर दिया था

डिजिटल डेस्क, इस्लामाबाद। पाकिस्तान ने कमर्शियल फ्लाइट्स के लिए अपने एयरस्पेस को खोलने के लिए भारत के सामने शर्त रखी है। पाकिस्तान के कहना है कि वह तब तक अपना एयरस्पेस नहीं खोलेगा जब तक भारत अपने फॉरवर्ड एयरबेस से फाइटर जेट को नहीं हटा लेता। बता दें कि पाकिस्तान ने भारत की ओर से की गई बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद 26 फरवरी को अपना एयरस्पेस पूरी तरह से बंद कर दिया था।

पाकिस्तान के एविएशन सेक्रेटरी नुसरत, जो सिविल एविएशन अथॉरिटी (CAA) के डायरेक्टर भी हैं, ने गुरुवार को एविएशन की सीनेट स्थायी समिति को इस बारे में सूचित किया। नुसरत ने बताया कि विभाग ने भारतीय अधिकारियों को सूचित किया है कि पाकिस्तानी एयरस्पेस भारत के उपयोग के लिए अनुपलब्ध रहेगा जब तक कि वह फॉरवर्ड पोजिशन से अपने फाइटर जेट्स नहीं हटा लेता। नुसरत ने समिति को बताया की भारत सरकार ने हमसे एयरस्पेस को खोलने के लिए कहा था जिसके जवाब में हमने भारत को अपनी चिंताओं से अवगत करा दिया है।

CAA ने उस दावे को भी खारिज किया जिसमे कहा जा रहा था कि भारत ने पाकिस्तान के लिए अपने एयरस्पेस को खोल दिया है। CAA डायरेक्टर ने समिति को बताया, 'भारतीय एयरस्पेस के बंद होने के बाद से थाईलैंड से पाकिस्तानी उड़ानों को बहाल नहीं किया गया है। मलेशिया के लिए पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआईए) की उड़ानें भी निलंबित हैं।'

पिछले महीने, पाकिस्तान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वीवीआईपी फ्लाइट को उनका एययस्पेस उपयोग करने की विशेष अनुमति दी थी। हालांकि पीएम ने अनुमति के बावजूद इस एयरस्पेस का इस्तेमाल नहीं किया था। पीएम मोदी को किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक में शंघाई सहयोग संगठन शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए जाना था। इससे पहले, पाकिस्तान ने भारत की पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को 21 मई को बिश्केक में एससीओ विदेश मंत्रियों की बैठक में भाग लेने के लिए पाकिस्तानी एयरस्पेस में सीधे उड़ान भरने की अनुमति दी थी।

पाकिस्तान और भारत दोनों को ही अपने-अपने एयरस्पेस पर प्रतिबंध के कारण भारी नुकसान हुआ है। एयरस्पेस बंद होने से भारत को 548 करो़ड़ रुपये और पाकिस्तान को 100 मिलियन डॉलर (लगभग 688 करोड़ रुपये) का नुकसान हुआ है। गुरुवार को भारत के नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने संसद को बताया था कि पाकिस्तान के एयरस्पेस बंद होने के कारण एयर इंडिया को लंबा रूट लेना पड़ा और इसमें 430 करोड़ रुपये अतिरिक्त खर्च करने पड़े।

इसके अलावा इंडिगो को 31 मई तक 25.1 करोड़ का तो स्पाइसजेट एवं गोएयर को 20 जून तक क्रमश: 30.73 एवं 2.1 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ।

कमेंट करें
DeQiN