comScore

पीएमसी बैंक घोटाला : एचडीआईएल की जब्त संपत्तियों की शुरु होगी नीलामी 

पीएमसी बैंक घोटाला : एचडीआईएल की जब्त संपत्तियों की शुरु होगी नीलामी 

डिजिटल डेस्क, मुंबई। पंजाब और महाराष्ट्र कोआपरेटिव (पीएमसी) बैंक घोटाले की छानबीन कर रही मुंबई पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा जल्द ही मामले में हाउसिंग डेवलपमेंट इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (एचडीआईएल) कंपनी के निदेशकों की संपत्तियों की जब्ती खत्म करेगी जिससे उन्हें नीलाम किया जा सके। केंद्रीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने इस सिलसिले में ईओडब्ल्यू को खत लिखा था। जिसके बाद संयुक्त पुलिस आयुक्त (ईओडब्ल्यू) राज्यवर्धन ने कहा कि अगले एक दो दिनों में अदालत में इससे जुड़ी अर्जी दे देंगे। ईओडब्ल्यू ने एचडीआईएल के निदेशकों की करीब 3500 करोड़ रुपए की संपत्तियां जब्त की हैं।

जब्त हुई हैं 3500 करोड़ रुपए की संपत्तियां

जांच एजेंसी और आरबीआई के इस कदम से खाताधारकों को बड़ी राहत मिलेगी। आरबीआई ने एक विशेषज्ञों की मदद से एचडीआईएल के निदेशकों की उन संपत्तियों का मूल्यांकन शुरू कर दिया है जिन्हें कर्ज लेते वक्त गिरवी रखा गया था। संपत्तियों के मूल्यांकन के बाद उनकी नीलामी के लिए अखबारों में विज्ञापन जारी किए जाएंगे। संपत्तियों की नीलामी के बाद हासिल रकम बैंक को दी जाएगी जिससे वह अपना कामकाज दोबारा शुरू कर सके और खाताधारकों को पैसे लौटा सके। आरबीआई द्वारा तैनात पीएमसी बैंक के प्रबंधक जेबी भोरिया ने ईओडब्ल्यू को खत लिखकर कहा था कि वह संपत्तियों की सैद्धांतिक जब्ती को खत्म करे जिससे उनकी नीलामी का रास्ता साफ हो सके। इसके बाद ईओडब्ल्यू ने इसकी मंजूरी के लिए अदालत में अर्जी देने का फैसला किया। 4355 करोड़ रुपए के इस घोटाले में ईओडब्ल्यू एचडीआईएल के निदेशकों राकेश वधावन उसके बेटे सारंग समेत पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है।     

कमेंट करें
IMnAX