comScore

एसआई को 8 हजार रू. की रिश्वत लेते दबोचा गया , कार्रवाई से बचाने मांगे थे दस हजार

एसआई को 8 हजार रू. की रिश्वत लेते दबोचा गया , कार्रवाई से बचाने मांगे थे दस हजार

डिजिटल डेस्क, शहडोल । जिले के जयसिंहनगर थाने में पदस्थ पुलिस उप निरीक्षक को लोकायुक्त पुलिस ने 8 हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। यह कार्रवाई लोकायु़क्त की रीवा से आई टीम द्वारा शुक्रवार को किया गया। एसआई गोविंद राम भगत द्वारा मारपीट के एक मामले में कार्रवाई नहीं करने के एवज में शिकायकर्ता जमुना साहू से 10 हजार रुपये बतौर रिश्वत की मांग की थी।

धमकाया जा रहा था फरियादी को

जानकारी के अनुसार थाना जयसिंहनगर अंतर्गत ग्राम मसियारी निवासी जमुना साहू पिता चिंता साहू का अपने पड़ोसी से जमीनी विवाद था। विवाद बढऩे के बाद दूसरे पक्ष की ओर से जयसिंहनगर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी।  मामले की जांच उपनिरीक्षक गोविंद राम भगत कर रहे थे। गोविंद राम द्वारा जमुना के खिलाफ  कोई कार्रवाई नहीं करने के लिए उससे रू.10000 रिश्वत देने के लिए कहा गया । आरोपी एस आई ने धमकाकर बार बार फरियादी से कहा कि अपने विरुद्ध कोई कार्रवाई नहीं चाहते हो तो 10 हजार रुपये लगेंगे। केस रफा दफा कर दूंगा। जमुना ने बताया कि उसने पहली किश्त के रूप में दो हजार रुपये दे दिए थे। लेकिन वह इतनी ज्यादा रकम देने की स्थिति में नहीं था। इसलिए उसने रीवा लोकायुक्त जाकर एसआई द्वारा मांगी जा रही रिश्वत की शिकायत कर दी। बातचीत के बाद शेष 8 हजार की रकम शुक्रवार 30 अगस्त को देने पर सहमति बनाई गई।

थाने के बाहर ली थी रिश्वत की रकम 

लोकायुक्त रीवा पुलिस अधीक्षक रीवा राजेंद्र कुमार वर्मा के निर्देशन पर निरीक्षक विद्या वारीध तिवारी, वरिष्ठ निरीक्षक अरविंद तिवारी एवं निरीक्षक हितेंद्र नाथ शर्मा के नेतृत्व में टीम जयसिंहनगर पहुंची। पूर्व से तय अनुसार जमुना द्वारा 8000 की रकम एसआई को देने के लिए कहा गया। एसआई द्वारा आज दोपहर 2.30 बजे सीता राम राव कांप्लेक्स स्थित वैष्णवी एक्स-रे कक्ष में मिलने के लिए बुलाया। जैसे ही रुपये दिए टीम ने एसआई को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया।

कमेंट करें
EaFxy