comScore

बारिश के बीच रोपाई कार्यों में आई गति, खेतों में जुटे हुए हैं मजदूर

बारिश के बीच रोपाई कार्यों में आई गति, खेतों में जुटे हुए हैं मजदूर

डिजिटल डेस्क, भंडारा। गत सप्ताह से हो रही झमाझम बारिश के कारण जिले में धान फसल रोपाई कार्यों में गति दिखाई दे रही है। जिसके कारण महिला खेतिहर मजदूरों को गांव में ही रोजगार प्राप्त हो रहा है।महिला मजदूर को एक दिन की दिहाड़ी 200 रुपए से लेकर 220 रुपय तक दी जा रही है।  जिसके कारण गांव की महिलाओं का जत्था सुबह से ही रोपाई कार्यो की ओर जाता हुआ दिखाई दे रहा है। इस वर्ष मानसून की बारिश द्वारा दगा दिए जाने के उपरांत अगस्त माह में समाधानकारक बारिश हुई। जिसके कारण किसानों ने रोपाई कार्यों की शुरुआत की। जिसमें महिलाओं को प्रतिदिन के अनुसार मजदूरी प्राप्त होने लगी। महिलाओं को मिल रहा रोजगार कुछ ही दिनों के लिए है। इन दिनों महिलाएं रोजगार पाकर खुश दिखाई दे रही है।

भंडारा शहर में महिला मजदूरों को 200 रुपए से लेकर 220 रुपए तक की दिहाड़ी प्रतिदिन के अनुसार दी जा रही है। सुबह के दौरान दो घंटे अतिरिक्त काम करने पर 100 रुपये की दिहाड़ी अधिक दी जा रही है। लाखनी तहसील में बारिश का प्रमाण कम होने के कारण रोपाई कार्यो को पूर्ण करने में किसानों के बीच स्पर्धा दिखाई दे रही है। जिसके कारण मजदूर महिलाओं की दिहाड़ी के दाम 250 से 300  रुपए तक पहुंच गए हैं। पालांदुर, लाखनी, लाखोरी, सालेभाटा, आलेसूर, में अधिकांश महिला कामगारों को रोजगार प्राप्त हो रहा है। परंतु कुछ स्थानों पर महिलाओं का समूह पूर्ण खेती की रोपाई के कार्य, ठेका पदध्ति से ले रहा है। जिसमें एक एकड़ का ठेका दो हजार रुपए तक  दिया जा रहा है।  महिलाओं को खेतों में आवाजाही के लिए किसानों द्वारा वाहन उपलब्ध कराए जा रहे हैं। खेती में रोपाई कार्यों को शीघ्र पूर्ण किए जाने के उद्देश्य से दूर दराज से महिलाओं को लाया जा रहा है। लाखांदुर व पवनी तहसील में रोपाई का कार्य पूर्ण होने के करीब है। परंतु मोहाडी तहसील में अपेक्षा अनुसार रोपाई नहीं हुई है।  

कमेंट करें
qyR8W